0

नौकरी चाहिए? मेहनत के साथ इन्हें भी आजमाइए

सोमवार,नवंबर 20, 2017
0
1
शनिवार, 18 नवंबर को शनि अमावस्या के दिन एक विशेष शुभ संयोग 'शोभन योग' निर्मित हो रहा है। यह संयोग न केवल शनि दोषों से ...
1
2
हिन्दू धर्मशास्त्रों के अनुसार प्रत्येक माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को शिवरात्रि का दिन माना जाता है। चतुर्दशी ...
2
3
नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांग रागाय महेश्वराय। नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मे न काराय नम: शिवाय:।। मंदाकिनी सलिल ...
3
4
बच्चों की पढ़ाई और करियर की चिंता माता-पिता को ज्यादा रहती है। शास्त्रों में वर्णित यह उपाय अगर बच्चा ना कर सके तो उनके ...
4
4
5
अदिति के पुत्र तथा विश्व की रक्षा करने वाले भगवान सूर्य मेरी पीड़ा का हरण करें .... जानिए, सारे ग्रहों को एक साथ कैसे ...
5
6
जब भी आरती पूर्ण होती है तो यह मंत्र विशेष रूप से बोला जाता है- लेकिन यही मंत्र क्यों... जानिए कारण...
6
7
सबसे ज्यादा प्रभावी मंत्रों में से एक मंत्र है गायत्री मंत्र। इसके जप से बहुत जल्दी शुभ फल प्राप्त हो सकते हैं।
7
8
धन की देवी मां लक्ष्मी को हम साल भर प्रसन्न करने का प्रयास करते हैं। पुराणों में मां लक्ष्मी के कई मंत्र मिलते हैं। ...
8
8
9
परेशानियों और दुर्भाग्य को दूर करने के लिए ज्योतिष में कई उपाय बताए गए हैं। यहां जानिए काले तिल के 6 उपाय...
9
10
आज और कल भैरव अष्टमी है। इन उपायों में से कोई एक उपाय नियमित रूप से आजमाएं और अपने हर संकट से मुक्ति पाएं।
10
11
हमारे धार्मिक शास्त्रों के अनुसार मंत्रों का जाप करने से मनुष्य को आध्या‍त्मिक शक्ति प्राप्त होती है। मंत्र जाप निष्ठा ...
11
12
रविवार, बुधवार और गुरुवार ये 3 दिन भैरवनाथ के माने गए हैं। इन दिनों कोई भी उपाय करने से भैरव प्रसन्न होकर अपने भक्त को ...
12
13
भैरवजी को काशी का कोतवाल माना जाता है। मार्गशीर्ष कृष्ण अष्टमी के दिन भगवान महादेव ने कालभैरव के रूप में अवतार लिया था। ...
13
14
ज्योतिष शास्त्रों में कुछ ऐसे आसान से उपाय दिए गए हैं, जिनको आजमा कर हम जीवन में सफल हो सकते है। अपना मनपसंद जीवनसाथी ...
14
15
भैरव कलियुग के जागृत देवता हैं। श्री भैरव के अनेक रूप हैं जिसमें प्रमुख रूप से बटुक भैरव, महाकाल भैरव तथा स्वर्णाकर्षण ...
15
16
क्या आप अपनी वर्तमान नौकरी से खुश नह‍ीं है? क्या आप नौकरी बदलना चाहते हैं? क्या आप भी नौकरी की तलाश में है? खास आपके ...
16
17
जिन व्यक्तियों की जन्मकुंडली में शनि, मंगल, राहु आदि पाप ग्रह अशुभ फलदायक हों, नीचगत अथवा शत्रु क्षेत्रीय हों। शनि की ...
17
18
राजा इंद्र नेमयूरेश स्तोत्र से गणेशजी को प्रसन्न कर विघ्नों पर विजय प्राप्त की थी। इसका पाठ किसी भी चतुर्थी पर फलदायी ...
18
19
माँ लक्ष्मी की प्रसन्नता के लिए जितने भी यंत्र हैं, उनमें कनकधारा यंत्र तथा स्तोत्र सबसे ज्यादा प्रभावशाली एवं अतिशीघ्र ...
19