नया वर्ष मंगलमयी हो : वर्ष 2018 के 12 अचूक शुभ उपाय

पंडित उमेश दीक्षित


राशि, लग्न, हस्तरेखा के द्वारा कई सुझाव नए साल की शुभता के लिए बताए जाते हैं। लेकिन कुछ उपाय ऐसे हैं जिन्हें राशि अनुसार हर कोई कर सकता है तथा लाभ उठा सकता है।

1. मेष : सूर्य को अर्घ्य दें। सूर्य को जल चढ़ाने के लिए समय सूर्योदय के 15 मिनट तक ही होता है। बाद में चढ़ाया गया जल उतना लाभ नहीं देगा। जल में कुमकुम व लाल पुष्प मिलाएं। जल पैरों में नहीं आए तथा जल चढ़ाते समय 'ॐ ह्रीं सूर्याय नम:' 21 बार बोलें। इससे सौभाग्य, आरोग्य, धन-धान्य की वृद्धि होती है तथा सम्मान बढ़ता है।

2. वृषभ : चींटी के बिल पर आटा सेंककर, घी मिलाकर शकर के साथ सुबह जल्दी चुगाएं। इससे रोजगार मिलता है तथा पाप कटते हैं।
3. मिथुन : अमावस्या वाली संध्या को खोपरा गोला लेकर उसका मुख काटकर सिंका आटा, शकर, पंचमेवा पीसकर भर दें तथा मुंह पहले जैसा बंद कर काले कपड़े में लपेटकर पीपल के नीचे गाड़ दें। इससे 1,000 ब्राह्मणों को भोजन कराने का पुण्य प्राप्त होगा तथा शनिदेव की कृपा बनी रहेगी।

4. कर्क : पीपल में मीठा जल चढ़ाएं, घी या तेल का दीपक लगाना तथा परिक्रमा करना शुभ होगा। तेल का दीपक तथा मीठा जल पितृ शांति करता है, घी का दीपक देवशांति करता है तथा 11,000 परिक्रमा पूरी होते ही आपकी 1 इच्छा पूर्ण हो जाती है। पीपल में सभी देवताओं का वास होता है। पीपल के नीचे दोपहर को नहीं जाएं।

5. सिंह : बड़ों का आशीष लें, सेवा करें। इससे कार्यों की बाधा दूर होती है तथा बृहस्पति ग्रह की कृपा मिलती है। लंबी उम्र भी मिलती है।

6. कन्या : गाय को रोटी डालें। इससे घर में लक्ष्मी का वास होता है। गाय देशी हो तथा रोटी पर घी-शकर लगा हो, ध्यान रखें।

7. तुला : कुत्ते को रोटी तेल लगाकर डालें। इससे राहु-केतु-शनि की कृपा बनी रहती है। भैरव महाराज परिवार की रक्षा करते हैं। कालसर्प दोष में शांति मिलती है।
8. वृश्चिक : पेड़-पौधों को सींचें तथा उनका रोपण करें। इससे बुध देवता प्रसन्न होते हैं तथा कई दोषों की शांति होती है।

9. धनु : कन्या भोजन, सुवासिनी भोजन। इनके भोजन-पूजन करने से सभी देवियों की कृपा मिलती है तथा शुक्र देवता प्रसन्न होते हैं। धन-ऐश्वर्य मिलता है।

10. मकर : असहाय, निर्धन, अपंग तथा गरीब विद्यार्थी जिन्हें सहयोग की आवश्यकता हो, उनके किसी काम आ सकें, इससे पाप नष्ट होते हैं।
11. कुंभ : किसी को अपशब्द न कहें, किसी जानवर को न सताएं, किसी पेड़ को न काटें, जल का दुरुपयोग नहीं करें, किसी की कोई भी वस्तु बलपूर्वक या छल से न लें अन्यथा परिणाम भुगतना पड़ेगा।

12. मीन : मद्य-मांस का सेवन न करें। परिवार में किसी का भी अपमान न करें। पराई स्त्रियों से बचकर रहें तथा विशेष तिथियों में संभोग न करें, फिर चमत्कार देखें।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
विज्ञापन

और भी पढ़ें :