वर्ष 2018 में करना है शादी तो पढ़ें अचूक उपाय (राशि अनुसार)

नए साल में बजेगी शहनाई, राशि अनुसार आजमाएं उपाय

अविवाहितों के लिए उपाय 2018
हर नए साल के साथ अविवाहितों को एक उम्मीद होती है कि इस वर्ष उनका विवाह अवश्य हो जाएगा लेकिन साल रेत की तरह फिसल जाता है और फिर अगले साल का इंतजार होने लगता है। वास्तव में साल के अनुसार राशि उपाय वर्षारंभ में ही कर लिए जाए तो विवाह की संभावना प्रबल होती है। आइए जानें शादी के इच्छुक युवा अपनी राशि अनुसार 2018 में क्या उपाय आजमाएं....

मेष राशि : कन्या प्रत्येक गुरुवार व मंगलवार को गाय को गुड़ खिलाएं तथा 'ॐ शुं शुक्राय नम:' का जप करें। यदि सप्तम भाव में कोई क्रूर या वक्री ग्रह हो तो उसकी भी शांति करवाएं। पुरुष शुक्र मंत्र का जप तथा शुक्रवार को गाय को खीर खिलाएं।

वृषभ राशि : इस राशि की कन्याओं को 'ॐ अं अंगारकाय नम:' का जप तथा मंगलवार को गाय को गुड़ खिलाना चाहिए तथा सप्तम भाव स्थित या उस पर किसी क्रूर ग्रह की दृष्टि हो तो उसका जप भी करें। पुरुष जातकों के लिए शुक्र तथा मंगल ग्रह के मंत्र जपना तथा किसी देशी लाल गाय को मंगलवार को गुड़ खिलाना चाहिए।
मिथुन राशि : इस राशि की कन्याओं को केले के पेड़ में जल देना है व घी का दीपक लगाना है। गाय को बृहस्पतिवार को गुड़ खिलाना तथा 'ॐ बृं बृहस्पतये नम:' जपना है। पुरुष जातकों को भी यही करना तथा शुक्र देवता का मंत्र जपना चाहिए।

कर्क राशि : कन्याओं को पीपल में शनिवार को जल तथा तेल का दीपक लगाना चाहिए तथा 'ॐ शं शनैश्चराय नम:' का जप करना चाहिए। पुरुष जातक भी यही करें तथा शुक्र देवता के मंत्र जपें।
सिंह राशि : कन्याओं को पीपल में मीठा जल चढ़ाना तथा तेल का दीपक लगाना है। पुरुष जातक भी यही करें तथा शनिवार को तेल दान करें।

कन्या राशि : कन्याओं को 'ॐ बृं बृहस्पतये नम:' का जप तथा केले का पूजन करना चाहिए तथा मंदिर में पीले कपड़े में चने की दाल गुरुवार को दान करना चाहिए या गाय को गुड़ या चने की दाल खिलाएं। पुरुष जातक भी यही उपाय करें तथा शुक्र ग्रह के मंत्र का जप करें।
तुला राशि : इस राशि की कन्या मंगलवार को गाय को गुड़ खिलाएं तथा 'ॐ अं अंगारकाय नम:' मंत्र का जप करें। मंगलवार का व्रत भी करें। पुरुष जातकों के लिए भी यही उपाय है तथा हनुमान चालीसा के 11 पाठ 40 दिन तक करना चाहिए।

वृश्चिक राशि : इस राशि की कन्या मंगलवार को गुड़ गाय को खिलाएं तथा देवीजी के मंदिर में खीर का नेवैद्य लगाएं। शुक्रवार का व्रत करें। पुरुष जातक भी यही उपाय करें तथा 'ॐ शुं शुक्राय नम:' का मंत्र भी जपें।
धनु राशि : इस राशि की कन्या 'ॐ बुं बुधाय नम:' मंत्र का जप तथा गुरुवार को गाय को गुड़, हरी घास/ पत्ते वाली भाजी खिलाएं। गणेश मंदिर रोज जाएं। पुरुष जातकों के लिए भी यही उपाय है। बुधवार को हरी वस्तुएं दान करें।

मकर राशि : इस राशि की कन्या 'ॐ सों सोमाय नम:' मंत्र का जप करें तथा शिवजी को दूध मिला जल चढ़ाएं। सोमवार व्रत भी करें। पुरुष जातकों के लिए भी यही उपाय है। सोमवार को दूध व वस्त्र दान करें। पूर्णिमा को सत्यनारायण भगवान की पूजन व व्रत करें।

कुंभ राशि : इस राशि की कन्याएं 'ॐ ह्रीं सूर्याय नम:' मंत्र का जप तथा सूर्य को कुमकुम मिले जल से अर्घ्य दें। रविवार को नमक न खाएं। गाय को गुड़ खिलाएं। पुरुष जातक भी ऐसा ही करें तथा शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करें।

मीन राशि : इस राशि की कन्याएं 'ॐ बुं बुधाय नम:' मंत्र का जप तथा गाय को बृहस्पतिवार को गुड़ तथा बुधवार को हरी घास-सब्जी खिलाएं। पुरुष जातक भी ऐसा ही करें। हरी वस्तुएं दान करें। गणेशजी के दर्शन नित्य करें।
उपरोक्त राशि के अनुसार उपाय हैं। इसके अलावा यदि पत्रिका मांगलिक हो तो मंगल शांति, गुरु के साथ क्रूर ग्रह होने पर चांडाल योग की शांति, पितृदोष तथा कालसर्प दोष, सूर्य-चन्द्र ग्रहण दोष की शांति आवश्यक है।

कन्याएं निम्न मंत्र की 1 माला नित्य करें-

'देहि सौभाग्यं आरोग्यं देहि में परमं सु्खम्।
रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि।।
युवकों के लिए- 1 माला नित्य निम्न मंत्र की करें-

'पत्नीं मनोरमां देहि मनोवृत्तानुसारिणीम्।
तारिणीं दुर्ग संसार सागरस्य कुलोद्भवाम्।।'

सामान्य उपाय : शिवजी पर जल, सूर्य को अर्घ्य, सलाह से सप्तमेश का नग धारण करने से इच्छापूर्ति होगी।


और भी पढ़ें :