आपसे होगा यक़ीनन मेरा रिश्ता कोई

WD|
ND
ND
देखा मेरे किरदार पे धब्बा कोई
देर तक बैठ के तन्हाई में रोयकोई

लोग माज़ी1 का भी अंदाज़ा लगा लेते हैं
मुझको तो याद नहीं कल का भी क़िस्सा कोई

बेसबब आँखों में आँसू नहीं आया करते
आपसे होगा यक़ीनन मेरा रिश्ता कोई
याद आने लगा एक दोस्त का बरताव मुझे
टूट कर गिर पड़ा जब शाख़ सपत्तकोई

बाद में साथ निभाने की क़सम खा लेना,
देख लो जलता हुआ पहले पतंगा कोई

उसको कुछ देर सुना लेता हूँ रुदादे सफ़र2राह में जब कभी मिल जाता है अपना कोई

कैसे समझेगा बिछड़ना वो किसी का 'राना'
टूटते देखा नहीं जिसने सितारा कोई

1. भूतकाल, पिछला 2. सफर के हालात

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :