नए शिखर पर शेयर बाजार

पुनः संशोधित बुधवार, 1 नवंबर 2017 (17:39 IST)
मुंबई। विदेशी बाजारों से मिले मजबूत संकेतों के बीच भारत में कारोबार सुगमता की विश्व बैंक की सकारात्मक रिपोर्ट, कोर उत्पादन में बढ़ोतरी के आंकड़े तथा वाहनों की बिक्री बढ़ने की खबरों से उत्साहित घरेलू निवेशकों ने बुधवार को जमकर लिवाली की, जिसके बल पर घरेलू शेयर बाजार ने नए शिखर को छुआ।





आर्थिक सुधार की दिशा में सरकार के उपायों के प्रति निवेशकों ने भरोसा दिखाया, जिससे का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 387.14 अंक की भारी बढ़त लेता अब तक के रिकॉर्ड स्तर 33,600.27 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 1.02 फीसदी यानी 105.20 अंक की तेजी में सर्वकालिक रिकॉर्ड स्तर 10,440.50 अंक पर बंद हुआ।





शेयर बाजार में मंगलवार को कारोबार बंद होने के बाद विश्व बैंक ने कारोबार सुगमता की रिपोर्ट जारी की, जिसमें कहा गया है कि भारत ने 30 पायदान की छलांग लगाकर शीर्ष 100 देशों में खुद को शुमार कर लिया है। विश्व बैंक की गत साल जारी रिपोर्ट में भारत 189 देशों में 130 वें स्थान पर रहा था, लेकिन इस बार यह 190 देशों में 100वें स्थान पर पहुंच गया। विश्व बैंक 10 मापदंडों पर देशों की रैंकिंग करता है।

ऑनलाइन रिटर्न भरना, ऑनलाइन कर भुगतान आदि जैसे सरकारी प्रयासों से कराधान के मामले में भारत 53 स्थान चढ़कर 119 वें स्थान पर पहुंच गया। पिछले साल इस मामले में उसकी रैंकिंग 172 रही थी। छोटे निवेशकों के हितों की रक्षा, वित्त की उपलब्धता और बिजली का कनेक्शन मिलने के मामले में भारत दुनिया में शीर्ष 30 देशों में शामिल है।



इसके अलावा सितंबर का कोर उत्पादन का आंकड़ा भी शेयर बाजार के लिए राहत वाला रहा है। प्राकृतिक गैस और रिफाईनरी उत्पादों के उत्पादन में वृद्धि होने के कारण सितंबर में कोर उत्पादन में 5.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। कोर उत्पादन के सूचकांक में आधारभूत ढांचे से जुड़े आठ उद्योग कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली शामिल हैं। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :