आईटी, टेक और बैंकिंग सेक्टर से बाजार को मिली मजबूती, सेंसेक्स में 551 अंकों का उछाल

मुंबई| पुनः संशोधित बुधवार, 31 अक्टूबर 2018 (16:37 IST)
मुंबई। सकारात्मक वैश्विक संकेतों के साथ आईटी, टेक और बैंकिंग क्षेत्रों की कंपनियों में हुई जोरदार लिवाल से आज घरेलू दो सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए।
बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक 550.92 अंकों की तेजी में 34,442.05 अंक पर पहुंच गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 188.20 अंक की बढ़त में 10,386.60 अंक पर बंद हुआ। यह दोनों सूचकांकों का 17 अक्टूबर के बाद का उच्चतम स्तर है।

विदेशी बाजारों में भी रौनक रही। दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.74 प्रतिशत, चीन का शंघाई कंपोजिट 1.35 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 1.60 प्रतिशत और जापान का निक्की 2.16 प्रतिशत की तेजी में बंद हुआ। यूरोप में शुरुआती कारोबार में जर्मनी का डैक्स 1.12 फीसदी और ब्रिटेन का एफटीएसई 1.33 फीसदी की तेजी में रहा।
सेंसेक्स 71.96 अंक चढ़कर 33,963.09 अंक पर खुला, लेकिन डॉलर की तुलना में रुपए में जारी गिरावट से यह तुरंत लाल निशान में चला गया। कारोबार के दौरान एक समय यह 33,587.24 अंक के दिवस के निचले स्तर तक भी उतरा, लेकिन आईटी और टेक कंपनियों में मजबूती ने बाजार को संभाला और दोपहर बाद यह हरे निशान में लौट आया।

बैंकिंग शेयरों में भी कम भाव पर हुई लिवाली ने बाजार को मजबूती प्रदान की। कारोबार की समाप्ति से पहले 34,463.38 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 550.92 अंक ऊपर 34,442.05 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 21 कंपनियों के शेयरों में तेजी और शेष नौ में गिरावट रही।
बीएसई में कुल 2,698 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,613 के शेयर हरे और शेष 941 के लाल निशान में रहे जबकि 144 के शेयर दिन भर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित बंद हुए। मझौली और छोटी कंपनियों में भी निवेशकों ने पूंजी लगाई। बीएसई का मिडकैप 1.56 प्रतिशत चढ़कर 14,612.59 अंक पर और स्मॉलकैप 1.38 प्रतिशत की बढ़त में 14,201.37 अंक पर रहा।

निफ्टी 11.15 अंक की तेजी के साथ 10,209.55 अंक पर खुला। सेंसेक्स की तरह इसमें भी भारी उतार-चढ़ाव देखा गया। इसका दिवस का निचला स्तर 10,105.10 अंक और उच्चतम स्तर 10,396 अंक रहा। कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस की तुलना में 188.20 अंक ऊपर 10,386.60 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 36 कंपनियों के शेयर हरे और शेष 14 के लाल निशान में रहे। (वार्ता)


और भी पढ़ें :