बिकवाली के दबाव में सेंसेक्स लुढ़का, निफ्टी भी फिसला

Bombay Stock Exchange
Last Updated: गुरुवार, 22 नवंबर 2018 (16:56 IST)
मुंबई। अमेरिका और चीन के बीच बढ़ी तकरार के कारण निवेश धारणा कमजोर पड़ने से अधिकतर विदेशी बाजारों की तरह गुरुवार को घरेलू भी गिरावट में रहे। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 218.78 अंक की तेजी के साथ 34,981.02 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 73.30 अंक लुढ़ककर 10,526.75 अंक पर बंद हुआ।

अमेरिका और चीन के राष्ट्रपतियों के बीच इस माह के अंत में अर्जेंटीना में आयोजित होने वाले जी20 के शिखर सम्मेलन के दौरान बातचीत होनी है। इस वार्ता से पहले अमेरिकी प्रशासन ने एक रिपोर्ट जारी करते हुए चीन पर आरोप लगाया कि उसने अपने कारोबार के गलत तरीके को बदला नहीं है। चीन ने आज इस रिपोर्ट का सख्त विरोध करते हुए कहा कि अमेरिका को भड़काऊ बातें नहीं करनी चाहिए।

विश्व की दो आर्थिक महाशक्तियों के बीच तनातनी फिर बढ़ने की खबरों से निवेशक हतोत्साहित होकर बिकवाल बने रहे। इस दौरान हालांकि अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कच्चे तेल के दाम लुढ़क गए, जिससे निवेशकों को थोड़ी राहत मिली। लंदन का ब्रेंट क्रूड वायदा 67 सेंट की गिरावट में 62.82 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। कच्चे तेल की गिरावट और डॉलर की तुलना में रुपए की मजबूती से सेंसेक्स तेजी के साथ 35,282.33 अंक पर खुला।

कारोबार के दौरान यह 35,364.50 अंक के दिवस के उच्चतम और 34,937.98 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ गत दिवस की तुलना में 0.62 प्रतिशत की गिरावट में 34,981.02 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से मात्र पांच कंपनियां हरे निशान में रहीं। निफ्टी भी बढ़त में 10,612.65 अंक पर खुला।

कारोबार के दौरान यह 10,646.25 अंक के दिवस के उच्चतम और 10,512.00 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ गत दिवस की तुलना में 0.69 प्रतिशत की गिरावट में 10,52675 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 40 कंपनियां गिरावट में और 10 तेजी में रही।

दिग्गज कंपनियों की तरह छोटी और मझोली कंपनियों पर भी बिकवाली हावी रही। बीएसई का मिडकैप 0.74 प्रतिशत यानी 110.78 अंक की गिरावट में 14,880.34 अंक पर और स्मॉलकैप 0.44 प्रतिशत यानी 63.66 अंक की गिरावट में 14,350.83 अंक पर बंद हुआ।

बीएसई के 20 समूहों में से 19 समूहों के सूचकांक में गिरावट दर्ज की गई। बीएसई में कुल 2,758 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,496 में गिरावट और 1,107 में तेजी रही जबकि 155 कंपनियों के शेयर दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद अपरिवर्तित बंद हुए।


और भी पढ़ें :