राष्ट्रीय हॉकी शिविर के लिए 33 पुरुष खिलाड़ियों का चयन

पुनः संशोधित बुधवार, 3 जनवरी 2018 (23:47 IST)
नई दिल्ली। हॉकी इंडिया (एचआई) ने बेंगलुरु में होने वाले राष्ट्रीय अभ्यास शिविर के लिए बुधवार को 33 संभावित पुरुष खिलाड़ियों का चयन किया। बेंगलुरु स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) सेंटर में चार जनवरी से शुरु होने वाले साल के पहले राष्ट्रीय अभ्यास शिविर भारतीय पुरुष हॉकी टीम के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि टीम को इस साल कई टूर्नामेंटों में हिस्सा लेना हैं।

10 दिनों तक चलने वाले इस राष्ट्रीय अभ्यास शिविर के लिए युवा और अनुभवी पुरुष खिलाड़ियों का चयन किया गया है जो प्रमुख कोच शूअर्ड मरिने को रिपोर्ट करेंगे। भारत के लिए पिछला साल काफी शानदार रहा था। भारत ने 2017 में एशिया कप खिताब जीतने के अलावा ओड़िशा में हुए हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल्स में कांस्य पदक जीता था। लेकिन 2018 उसके लिए काफी चुनौतीपूर्ण होने वाला है।

भारतीय टीम को इस वर्ष अप्रैल में आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेना है। टीम को इसके बाद जुलाई में ब्रेडा में होने वाली चैंपियंस ट्राफी में खेलना है। भारतीय पुरुष हॉकी टीम इसके बाद फिर अगस्त में इंडोनेशिया में एशियाई खेलों में हिस्सा लेगी जबकि अक्टूबर में एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी में अपना खिताब बचाने उतरेगी।

इसके अलावा नवंबर में ओड़िशा हॉकी विश्वकप भी खेलना है। टीम के कोच शूअर्ड मरिने ने आगामी टूर्नामेंटों को लेकर कहा, 'अभ्यास शिविर कम समय के लिए होगी और ऐसे में हमें उन खिलाड़ियों का भी मार्गदर्शन करना हैं जिन्होंने अब तक केवल घरेलू मैच ही खेलें हैं। न्यूजीलैंड में हमें आठ मैच खेलने हैं और इसी को ध्यान में रखते हुए अभ्यास शिविर को हमें गंभीर रूप से लेने की जरुरत है।'

मरिने ने कहा, 'हमेशा की तरह ही, खिलाड़ियों के पिछले टूर्नामेंट के प्रदर्शन का मूल्यांकन करने की जरुरत है और इस शिविर में भी हम वैसा ही करेंगे। सबसे पहले हमें यह देखना होगा कि हमने पिछले टूर्नामेंट से क्या सबक लिया और हमें क्या सुधार करने की जरुरत है।'

बेंगलुरु स्थित साई सेंटर में चार जनवरी से शुरु होने वाले साल के पहले राष्ट्रीय अभ्यास शिविर के लिए गोलकीपर कृषण बी पाठक को शामिल किया गया है जो 2016 में हुए जूनियर विश्वकप विजेता टीम का हिस्सा थे। इसके अलावा गत वर्ष भुवनेश्वर में हुए ओड़िशा पुरुष हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल्स में भारत की सफलता में अहम भूमिका निभाने वाले आकश अनिल चिक्ते और सूरज करकेरा भी अभ्यास शिविर से जुड़ेंगे।

लगभग आठ महीने तक मैदान से दूर रहने वाले सीनियर खिलाड़ी पीआर श्रीजेश की भी शिविर में वापसी हुई है। अंडर-18 2016 एशिया कप में भारत की खिताबी जीत के दौरान टीम की अगुआई करने वाले युवा डिफेंडर नीलम संजीप सेस को भी सीनियर कोर ग्रुप में जगह मिली है। वह सरदार सिंह, हरमनप्रीत सिंह, अमित रोहिदास, दिपसान टिर्की, वरण कुमार, रुपिंदर पाल सिंह, बीरेंद्र लाकड़ा, सुरेंदर कुमार, गुरिंदर सिंह जैसे रक्षापंक्ति के खिलाड़ियों के साथ अभ्यास करेंगे।

मिडफील्डरों की सूची में कोई बदलाव नहीं है जिसमें मनप्रीत सिंह, चिंगलेनसाना सिंह, एसके उथप्पा, सुमित, कोथाजीत सिंह, सतबीर सिंह, निलाकांत शर्मा, सिमरनजीत सिंह और हरजीत सिंह को जगह मिली है। वर्ष 2016 में जूनियर पुरष टीम का हिस्सा रहे युवा फारवर्ड सुमित कुमार को शिविर में एसवी सुनील, आकाशदीप सिंह, मनदीप सिंह, ललित उपाध्याय, गुरजंत सिंह, रमनदीप सिंह, अरमान कुरैशी, अफ्फान यूसुफ और तलविंदर सिंह जैसे खिलाड़ियों के साथ शामिल किया गया है।

भारत साल 2018 शुभारंभ न्यूजीलैंड के तोरंगा और हैमिल्टन में में होने वाले चार देशों के आमंत्रण टूर्नामेंट से करेगा। टूर्नामेंट में भारत के मेजबान न्यूजीलैंड, बेल्जियम और जापान की टीमें भी हिस्सा लेंगी।

राष्ट्रीय अभ्यास शिविर के लिए 33 संभावित पुरुष खिलाड़ी इस प्रकार हैं -
गोलकीपर : आकाश अनिल चिक्ते, सूरज करकेरा, पीआर श्रीजेश, कृष्ण बी पाठक। डिफेंडर
:
हरमनप्रीत सिंह, अमित रोहिदास, दिपसान टिर्की, वरुण कुमार, रूपिंद्रपाल सिंह, बिरेंद्र लाकड़ा, सेरेंद्र कुमार, गुरिंदर सिंह, नीलम संजीप सेस, सरदार सिंह। मिडफिल्डर : मनप्रीत सिंह, चिंगलेनसाना सिंह, एस के उथप्पा, सुमित, कोथाजीत सिंह, सतबीर सिंह, निलाकांत शर्मा, सिमरनजीत सिंह और हरजीत सिंह। फारवर्ड : एसवी सुनील, आकाशदीप सिंह, मनदीप सिंह, ललित उपाध्याय, गुरजंत सिंह, रमनदीप सिंह, अरमान कुरैशी, अफ्फान यूसुफ, तलविंदर सिंह और सुमित कुमार।
(वार्ता)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :