प्रेरक वीडियो देखकर भारतीय हॉकी टीम ने पाई मानसिक दृढ़ता : सुनील

Last Updated: गुरुवार, 7 दिसंबर 2017 (23:19 IST)
भुवनेश्वर। कभी बड़ी टीमों के सामने घुटने टेक देने वाली भारतीय हॉकी टीम अब और ऑस्ट्रेलिया जैसे दिग्गजों पर भारी पड़ रही है और अनुभवी स्ट्राइकर एसवी सुनील इस मानसिक दृढ़ता का श्रेय कोच शोर्ड मारिन की खिलाड़ियों को प्रेरक वीडियो दिखाने की रणनीति को देते हैं।
भारतीय हॉकी टीम के मुख्य कोच शोर्ड मारिन नीदरलैंड में मानसिक अनुकूलन के विशेषज्ञ रह चुके हैं। उनकी इस खूबी का पूरा फायदा मनप्रीत सिंह एंड कंपनी को मिल रहा है, जिसने दुनिया की तीसरे नंबर की टीम और खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही बेल्जियम को सडन डैथ में हराकर फाइनल के अंतिम चार में जगह बनाई।

सुनील ने कहा, बड़ी टीमों को हराने में हम पहले ही सक्षम थे लेकिन खुद को साबित नहीं कर सके थे। कल हमने इसे साबित किया कि टीम शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से कितनी मजबूत है। इस मानसिक मजबूती का राज पूछने पर उन्होंने कहा, कोच ने हमें नेशनल साकर लीग के प्रेरक वीडियो दिखाए।

उन्होंने एनएसएल खिलाड़ी एंकी जानसन की स्पीच दिखाई जिन्होंने फ्रेक्चर के कारण करियर में बाधा आने के बाद वापसी की। इससे भीतर से बेहतर करने की प्रेरणा मिलती है। भारतीय हॉकी के लिए इस टूर्नामेंट को बेहद महत्वपूर्ण बताते हुए उन्होंने कहा कि अपनी सरजमीं पर एक बड़ा खिताब जीतना बहुत जरूरी है।

उन्होंने कहा, हम भारत में कोई बड़ा टूर्नामेंट नहीं जीत सके हैं। अगर हम यह खिताब जीत सके तो अगले साल होने वाले बड़े टूर्नामेंटों के लिए आधार तैयार होगा और हॉकी को नए प्रशंसक भी मिलेंगे। नया कोचिंग स्टाफ सिर्फ पोडियम फिनिश से संतुष्ट नहीं होता बल्कि उसे हर टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक चाहिए। हम भी उसी लक्ष्य के लिए खेल रहे हैं।

उन्होंने बेल्जियम पर मिली जीत का श्रेय इसी मानसिकता को देते हुए कहा, हमें पता था कि अगर क्वार्टर फाइनल हार गए तो आगे कुछ नहीं बचेगा। हम इसे आखिरी मैच मानकर खेल रहे थे। दर्शकों ने भी पूरा साथ दिया और हमें बेल्जियम से रियो ओलंपिक क्वार्टर फाइनल की हार का बदला भी लेना था। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :