हॉकी विश्वकप में पाकिस्तान के खेलने को लेकर दो मंत्रालयों की मंजूरी

Last Updated: बुधवार, 6 दिसंबर 2017 (21:09 IST)
भुवनेश्वर। अगले साल यहां होने वाले एफआईएच सीनियर पुरुष विश्वकप में पाकिस्तान की भागीदारी को लेकर लग रही अटकलों को खारिज करते हुए हॉकी इंडिया की सीईओ एलेना नार्मन ने बुधवार को कहा कि इस मामले में दो मंत्रालयों की अनुमति मिल गई है।

एलेना ने यहां हॉकी विश्व लीग फाइनल्स से इतर बातचीत में कहा, दूसरी टीमों की तरह ही पाकिस्तान का टूर्नामेंट में स्वागत है। हमें इस टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए से अनुमति मिली है और इसमें भाग ले रही 16 टीमों में पाकिस्तान भी है।

इसके अलावा विदेश और भी है जिनमें से एक से हमें अनुमति मिल गई है हालांकि अभी मुझे याद नहीं है कि किससे अनुमति मिली है। पाकिस्तानी टीम यहां 2014 में चैंपियंस ट्रॉफी खेलने आई थी और भारत को हराने के बाद उसके खिलाड़ियों के अभद्र आचरण के कारण दोनों देशों के हॉकी संबंधों में खटास आई थी।
विश्व कप की तैयारियों के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि अगले साल जुलाई तक सारी तैयारियां पूरी हो जाएंगी। उन्होंने कहा, सरकार मई तक सारा निर्माण कार्य पूरा कर लेगी और उसके बाद हम पिच बिछाएंगे। उसके लिए हमने दो महीने रखे हैं। हम पहले से पिच नहीं बिछाना चाहते, क्‍योंकि वह गंदी हो जाएगी। जुलाई तक मुख्यमंत्री नए स्टेडियम का उद्घाटन कर देंगे। ऑस्ट्रेलिया में बदइंतजामी झेल रही स्कूली लड़कियों की हॉकी टीम के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि यह मंत्रालय का मामला है और वे इसे देख रहे हैं।
उन्होंने कहा, यह जिम्मेदारी भारतीय स्कूल खेल महासंघ की है तो आपको इसके बारे में मंत्रालय से पूछना होगा। मुझे यकीन है कि वे मामले पर नजर रखे हैं। मुझे नहीं पता कि उनकी प्रक्रिया क्या है लेकिन हम बाहर टीम भेजते समय मंत्रालय से अनुमति लेते हैं। उसके बिना वीजा के लिए आवेदन ही नहीं कर सकते। मुझे यकीन है कि मंत्रालय इस बारे में कदम उठाएगा।

हॉकी इंडिया लीग की वापसी के बारे में पूछने पर नार्मन ने कहा, मुझे यकीन है कि 2019 के आखिर में लीग फिर होगी। यह बात गलत है कि फ्रेंचाइजी को कोई शिकायतें थीं। हमारा फोकस फिलहाल विश्व हॉकी लीग पर था, लेकिन हम हॉकी इंडिया लीग फिर लेकर आएंगे। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :