Widgets Magazine

शुक्रवार : कैसे करें संतोषी माता और वैभवलक्ष्मी का व्रत, जानिए पूजन विधि...


 
 
*  के व्रत से होगी मनोकामनाएं पूर्ण, पूजन ऐसे करें... 
 
शुक्रवार का व्रत 3 तरह से किया जाता है। इस दिन भगवान शुक्र के साथ-साथ संतोषी माता तथा वैभवलक्ष्मी देवी का भी पूजन किया जाता है। तीनों व्रतों की विधियां अलग-अलग हैं। जो स्त्री-पुरुष शुक्रवार को करते हैं, उनके लिए व्रत-विधि इस प्रकार है -
 
शुक्रवार (संतोषी माता) व्रत विधि :- 
 
* सूर्योदय से पूर्व उठें।
 
* घर की सफाई कर स्नानादि से निवृत्त हो जाएं।
 
* घर के ही किसी पवित्र स्थान पर संतोषी माता की मूर्ति या चित्र स्थापित करें।
 
* संपूर्ण पूजन सामग्री तथा किसी बड़े पात्र में शुद्ध जल भरकर रखें।
 
* जलभरे पात्र पर गुड़ और चने से भरकर दूसरा पात्र रखें।
 
* संतोषी माता की विधि-विधान से पूजा करें।
 
* इसके पश्चात संतोषी माता की कथा सुनें।
 
* तत्पश्चात आरती कर सभी को गुड़-चने का प्रसाद बांटें।
 
* अंत में बड़े पात्र में भरे जल को घर में जगह-जगह छिड़क दें तथा शेष जल को तुलसी के पौधे में डाल दें। 
 
उद्यापन इस प्रकार करें - इसी प्रकार 16 शुक्रवार का नियमित उपवास रखें। अंतिम शुक्रवार को व्रत का विसर्जन करें। विसर्जन के दिन उपरोक्त विधि से संतोषी माता की पूजा कर 8 बालकों को खीर-पूरी का भोजन कराएं तथा दक्षिणा व केले का प्रसाद देकर उन्हें विदा करें। अंत में स्वयं भोजन ग्रहण करें।
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine