0

करोड़ों खर्च लेकिन फिर भी गंगा मैली की मैली, कौन है गुनाहगार...

शनिवार,अप्रैल 21, 2018
0
1
'अक्ती' छत्तीसगढ़ विशेषता से जुड़ा अनोखा पर्व है। इस दिन बच्चे, बुजुर्ग बनकर पूरी तन्मयता के साथ अपनी मिट्टी से बने ...
1
2
शंकर और पार्वती को आदर्श दंपत्ति माना गया है। दोनों के बीच अटूट प्रेम है। शंकरजी के जीवन और मन में कभी दूसरी स्त्री का ...
2
3
भगवान राम की पवित्र नगरी अयोध्या हिन्दुओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। यहां पर भगवान राम का जन्म हुआ था। यह राम ...
3
4
श्री दुर्गासप्तशती स्वयं साक्षात् देवी दुर्गा हैं, ऐसा ही मानना चाहिए। पूर्ण तंत्र वह अपने आप में है। नित्य पाठ करने से ...
4
4
5
संत ऋतु का पहला हिस्सा पतझड़ का हुआ करता है... पेड़ों, झाड़ियों, बेलों और पौधों के पत्ते सूखते हैं, पीले होते हैं और फिर ...
5
6
होली शाश्वत काल से बुराइयों को दग्ध कर अच्छाइयों को ग्रहण करने का संदेश देती आ रही है जिससे कि वर्षभर एकत्र विकारों को ...
6
7
विश्वास पर आधारित सभी धर्मों का आधार है 'ईश्वर'। ईश्वर को हटा दें तो उन धर्मों का आधार गिर जाता है।
7
8
शास्त्रों में तिलक धारण के करने के नियम व मंत्र बताए गए हैं। क्या आप जानते हैं किस अंगुली से किसे तिलक किया जाना चाहिए? ...
8
8
9
भगवान शिव आदिदेव हैं, देवों के देव हैं, महादेव हैं। सभी देवताओं में वे सर्वोच्च हैं, महानतम हैं, दु:खों को हरने वाले ...
9
10
भारतीय संवत्सर का ग्यारहवां चन्द्रमास और दसवां सौरमास माघ कहलाता है। इस महीने में मघा नक्षत्रयुक्त पूर्णिमा होने से ...
10
11
हिन्दू धर्म में पूजा के समय कुछ बातें अनिवार्य मानी गई है। जैसे प्रसाद, मंत्र, स्वास्तिक, कलश, आचमन, तुलसी, मांग में ...
11
12
माघ माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी को भीष्म पितामह ने अपने शरीर को छोडा़ था, इसीलिए यह दिन उनका निर्वाण दिवस है। आइए जानें ...
12
13
हिन्दुओं को सर्वाधिक प्रिय माघ मेला है। हिन्दू पंचांग के अनुसार मकर संक्रांति के दिन 14 या 15 जनवरी को माघ महीने में यह ...
13
14
प्रतिवर्ष पुण्यदायिनी मां नर्मदा का जन्मदिवस यानी माघ शुक्ल सप्तमी को नर्मदा जयंती महोत्सव मनाया जाता है। इस वर्ष ...
14
15
मंदिर में भगवान के दर्शन के समय अभिवादन हेतु सिर झुकाकर नमस्कार करें। मंत्र जाप करते समय इस बात का ध्यान रखें।
15
16
बिहार राज्य की राजधानी पटना में गुरु गोविंद सिंह जी का जन्म 1666 ई. को हुआ था। सिख धर्म के नौवें गुरु तेगबहादुर साहब की ...
16
17
त्योहार को 'संस्कृति का वाहक' माना जाता है। त्योहार किसी देश, समाज और संस्कृतियों के व्यवहार और विचारों का प्रतिबिम्बन ...
17
18
आदिकवि महर्षि वाल्मीकि जी ने रामायण की रचना करके हर किसी को सद्‍मार्ग पर चलने की राह दिखाई। पावन ग्रंथ रामायण में ...
18
19
गुरु गोविंद सिंहजी आध्यात्मिक गुरु थे जिन्होंने मानवता को शांति, प्रेम, एकता, समानता एवं समृद्धि का रास्ता दिखाया। ...
19