33 देवताओं में से दो अश्विनी कुमार...

हिन्दू धर्म के प्रमुख 33 देवताओं की लिस्ट में अश्विनी कुमारों का नाम भी है। अश्विनी देव से उत्पन्न होने के कारण इनका नाम अश्‍विनी कुमार रखा गया। इन्हें सूर्य का औरस पुत्र भी कहा जाता है। ये मूल रूप से चिकित्सक थे। ये कुल दो हैं। एक का नाम 'नासत्य' और दूसरे का नाम 'द्स्त्र' है।

Widgets Magazine

ब्रह्म ही सत्य है

ईश्वर न तो भगवान है, न देवता, न दानव और न ही प्रकृति या उसकी अन्य कोई शक्ति। ‍ईश्वर एक ही है अलग-अलग नहीं। ईश्वर अजन्मा है। जिन्होंने जन्म लिया ...

यह फोटो आपकी आंखें खोल देगा.....

हिंदू धर्म ईश्वर को कर्ता-धर्ता नहीं मानता। वह तो एक 'शुद्ध प्रकाश' है। उसकी उपस्थिति से ही ब्रह्मांड निर्मित होते हैं और भस्म भी हो जाते हैं। ...

हिंदू धर्म : ईश्वर की प्रार्थना

ईश्वर की प्रार्थना की शक्ति के महत्व को सभी धर्मों के अलावा विज्ञान ने भी स्वीकार किया है, लेकिन हिंदू प्रार्थना को छोड़कर सब कुछ करता है। जैसे- ...

गुनहगार है हिन्दू...?

हिन्दू आम तौर पर एकेश्वरवादी नहीं होते। वह ईश्वर को छोड़कर तरह-तरह के देवी, देवता, नाग, झाड़, पितर और गुरुओं की पूजा करते रहते हैं, जबकि वेद ...

एक साधे सब सधे, सब साधे कोई न सधे-1

धार्मिक आजादी का सभी धर्मों में दुरुपयोग हुआ है। इसका यह मतलब नहीं की लोगों की आजादी छीन ली जाए। धार्मिक आजादी के चलते जहां संतों ने धर्म की ...

एक साधे सब सधे, सब साधे कोई न सधे-2

वेदों के अनुसार ब्रह्म (ईश्‍वर) ही सत्य है। परमेश्वर से इस ब्रह्मांड की रचना हुई। इस ब्रह्मांड में सकारात्मक और नकारात्मक शक्तियां रहती हैं। ...

परमेश्वर नहीं है देवी और देवता

ऐसी मान्यता है कि हिंदू देवी-देवताओं की संख्या 33 या 36 करोंड़ है। ऐसी मान्यता किस आधार पर है यह तो नहीं मालूम, लेकिन वेद और पुराण में इतने ...

अमूर्त है संसार का सत्य

अर्थात हम जिस भी मूर्त या मृत रूप की पूजा, आरती, प्रार्थना या ध्यान कर रहे हैं वह ईश्‍वर नहीं है, ईश्वर का स्वरूप भी नहीं है। जो भी हम देख रहे ...

Widgets Magazine

ज़रूर पढ़ें

आर्थिक समस्याओं से मुक्ति दिलाएं नारियल के टोटके

नारियल का भारतीय धर्म-संस्कृति में बहुत महत्व है। इसे 'श्रीफल' भी कहा जाता है। इसकी धार्मिक महत्ता ...

शतायु होना है तो स्मरण करें इन 7 चिरंजीवियों का...

प्राचीन हिंदू इतिहास और पुराणों के अनुसार ऐसे सात व्यक्ति हैं, जो चिरंजीवी हैं। यह सब किसी न किसी ...

नींद से जागते ही बोले यह मंत्र

प्रात:काल जब निद्रा से जागते हैं तो सर्व प्रथम बिस्तर पर ही हाथों की दोनों हथेलियों को खोलकर उन्हें ...

Widgets Magazine

धर्म संसार

20 दिसंबर 2014 : क्या कहती है आपकी राशि

मेष- अचानक दु:खद घटनाएं घट सकती हैं। विवाद न करें, जोखिम न उठाएं। लाभ के अवसर हाथ से निकलेंगे, ...

आज के मुहूर्त (20.12.2014)

शुभ विक्रम संवत- 2071, अयन- दक्षिणायन, मास- पौष, पक्ष- कृष्ण, हिजरी सन्‌- 1436, मु. मास- सफर, ...

समाचार

..तो अब से बिकनी में नहीं दिखेंगी विश्व सुंदरियां

लंदन। बिकनी के विज्ञापन के लिए कुछ दशक पहले शुरू हुई मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में अगले साल से अब ...

जम्मू कश्मीर में अंतिम चरण का मतदान आज

श्रीनगर। पाकिस्तान के पेशावर में आर्मी स्कूल पर हुए तालिबानी हमले के बाद जम्मू कश्मीर में आतंकी ...