0

दिगंबर जैन समुदाय आज मनाएगा सुगंध दशमी पर्व, धूप से होगा पर्यावरण का संरक्षण

मंगलवार,सितम्बर 18, 2018
0
1
प्रतिवर्ष की तरह दिगंबर जैन समुदाय के पर्युषण पर्व यानी दशलक्षण पर्व शुरू हो गए हैं। आत्मचिंतन का यह पर्व हर साल ही ...
1
2
पर्युषण पर्व के 8 दिनों के बाद क्षमा, अहिंसा और मैत्री का पर्व संवत्सरी आता है। संवत्सरी पर्व पर जैन धर्मावलंबी ...
2
3
प्रति वर्ष की भांति आत्म जागरण का महापर्व पर्युषण समाप्त हो गए हैं। यह पर्व क्षमा और मैत्री का संदेश लेकर आ रहा है। ...
3
4
वर्ष 2018 में रोट तीज का व्रत 12 सितंबर, बुधवार को किया जा रहा है। जैन धर्म में रोट तीज व्रत का बहुत महत्व है। यह व्रत ...
4
4
5
श्री चौबीसा व्रत जिसे रोट तीज भी कहते हैं, साल में एक ही वक्त करना होता है। भाद्रपद शुक्ल तृतीया (तीज) को सामायिक स्नान ...
5
6
पर्युषण पर्व जैनों का सर्वाधिक महत्वपूर्ण पर्व है। यह पर्व बुरे कर्मों का नाश करके हमें सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलने ...
6
7
हिन्दू और जैन दो शरीर लेकिन आत्मा एक है। यह भी कह सकते हैं कि एक ही कुल के दो धर्म हैं- हिन्दू और जैन। आओ जानते हैं कि ...
7
8
गुरुवार, 6 सितंबर 2018 से समग्र श्वेताम्बर जैन समाज के पर्वाधिराज पर्युषण महापर्व प्रारंभ हो गए हैं। पर्युषण को ...
8
8
9
दुनिया में कड़वे प्रवचन के लिए विख्यात क्रांतिकारी राष्ट्रसंत जैन मुनिश्री तरुण सागर जी महाराज का 1 सितंबर 2018, शनिवार ...
9
10
जैनपुराणों के अनुसार संथारा शरीर को त्यागने की एक पवित्र विधि है। इसे जीवन की अंतिम साधना भी माना जाता है जिसके आधार पर ...
10
11
क्रांतिकारी राष्ट्रसंत मुनिश्री तरुणसागरजी का असली नाम पवन कुमार जैन है। अपने कड़वे प्रवचन के कारण ही उन्‍हें ...
11
12
जैन धर्म के छोटे-से आम्नाय तेरापंथ धर्मसंघ के वरिष्ठतम मुनिश्री सुमेरमलजी सुदर्शन का इन दिनों दिल्ली के ग्रीन पार्क ...
12
13
जैन सल्लेखना/संथारा के बारे में आचार्यश्री विद्यासागरजी महाराज कहते हैं कि जिस प्रकार आप मंदिर बना लो, उसके शिखर बनवा ...
13
14
जैन और हिन्दू धर्म की साझा संस्कृति का इतिहास रहा है। जिस तरह हिन्दू धर्म में रक्षाबंधन के त्योहार को मनाने को लेकर ...
14
15
श्रावण शुक्ल सप्तमी के दिन 23वें तीर्थंकर भगवान पार्श्वनाथ के मोक्ष कल्याणक दिवस मनाया जाता है। दिगंबर एवं श्वेतांबर ...
15
16

जैन चौबीसी स्तोत्र

सोमवार,जुलाई 23, 2018
घनघोर तिमिर चहुंओर या हो फिर मचा हाहाकार कर्मों का फल दुखदायी या फिर ग्रहों का अत्याचार
16
17
विश्व-वंदनीय जैन संत आचार्यश्री 108 विद्यासागरजी महाराज भारत भूमि के प्रखर तपस्वी, चिंतक, कठोर साधक, लेखक हैं। जानिए ...
17
18
ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को जैन धर्म में 'श्रुत पंचमी' का पर्व मनाया जाता है। इस दिन भगवान महावीर के ...
18
19
चातुर्मास : जैन धर्म में इसे सामूहिक वर्षायोग तथा चातुर्मास के रूप में जाना जाता है। मान्यता है कि बारिश के मौसम के ...
19