श्री विश्वकर्मा भगवान के 108 नाम, अवश्य पढ़ें...

शनिवार,सितम्बर 16, 2017
क्षमा शब्द मानवीय जीवन की आधारशिला है। जिसके जीवन में क्षमा है, वही महानता को प्राप्त कर सकता है। क्षमावाणी हमें झुकने ...
पयुर्षण पर्व को जैन धर्म में सभी पर्वों का 'राजा' माना जाता है। इस पर्व की विशेष महत्ता के कारण ही इस पर्व को 'राजा' ...
प्रतिवर्ष दसलक्षण (पयुर्षण) महापर्व के अंतर्गत आने वाली भाद्रपद शुक्‍ल दशमी को दिगंबर जैन समाज में सुगंध दशमी का पर्व ...
प्रतिवर्ष की तरह दिगंबर जैन समुदाय के पर्युषण पर्व यानी दशलक्षण पर्व शनिवार, 26 अगस्त से शुरू हो गए हैं। आत्मचिंतन का ...
Widgets Magazine
जैन धर्म की परंपरा के अनुसार पर्युषण पर्व के अंतिम दिन क्षमा, अहिंसा और मैत्री का पर्व संवत्सरी आता है। संवत्सरी पर्व ...
एक समय उज्जैनी नगरी में एक सागरदत्त नाम का सेठ रहता था। उसके छप्पन करोड़ दीनारों की लक्ष्मी देशांतरों में माल भरकर उसके ...
दिगंबर जैन धर्मावलंबियों का रोट तीज पर्व गुरुवार, 24 अगस्त 2017 को मनाया जाएगा। इस अवसर पर दिगंबर जैन मंदिरों में 24 ...
रोटतीज का व्रत भाद्रपद शुक्ल तृतीया को मनाया जाता है। जैन धर्म में रोटतीज व्रत का बहुत महत्व है। यह व्रत करने से मानसिक ...
Widgets Magazine
श्वेतांबर जैन समाज के पर्युषण महापर्व के तहत मंगलवार, 22 अगस्त 2017 को भगवान महावीर का जन्मवाचन समारोह धूमधाम से मनाया ...
श्वेतांबर जैन समाज के 8 दिवसीय पर्वाधिराज पर्युषण शुक्रवार से शुरू हो गए हैं। ये पर्युषण 18 से 25 अगस्त 2017 तक ...
सागर। मध्यप्रदेश के बुंदेलखंड अंचल के संभागीय मुख्यालय सागर में स्थित सिद्धायतन की सिद्ध भगवान की प्रतिमा गिनीज बुक ऑफ ...
जैन धर्म के अनुसार श्रावण शुक्ल सप्तमी के दिन तेईसवें तीर्थंकर भगवान पार्श्वनाथ के मोक्ष कल्याणक दिवस मनाया जाता है। ...
आज जैन दिगम्बर संत आचार्यश्री विद्यासागरजी की दीक्षा के 50 वर्ष पूरे हो गए हैं। दीक्षा के 50 वर्ष पूर्ण होने के इस मौके ...
जैन धर्म में ज्येष्ठ माह, शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को 'श्रुत पंचमी' (Shruti Panchami, ज्ञान पंचमी) का पर्व मनाया जाता ...
णमोकार महामंत्र को जैन धर्म का परम पवित्र और अनादि मूल मंत्र माना जाता है। इसमें किसी व्यक्ति का नहीं, किंतु संपूर्ण ...
जैन मान्यता है कि पूर्णता प्राप्त करने से पूर्व तक तीर्थंकर मौन रहते हैं। अत: आदिनाथ को एक वर्ष तक भूखे रहना पड़ा। इसके ...
जैन धर्म में अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) का विशेष महत्व है। इसी दिन जैन धर्म के पहले तीर्थंकर भगवान ऋषभदेव का प्रथम ...

श्री आदिनाथ भगवान चालीसा...

बुधवार,अप्रैल 26, 2017
जय जय आदिनाथ जिन के स्वामी, तीनकाल तिहूं जग में नामी। वेष दिगम्बर धार रहे हो, कर्मों को तुम मार रहे हो ।। हो सर्वज्ञ ...
महाराजा सिद्धार्थ ने महारानी त्रिशला द्वारा देखे गए सपनों की जानकारी जब स्वप्नवेत्ताओं को दी तो स्वप्नवेत्ता बोले- ...