Widgets Magazine

हनुमानजी पर लिखे गए स्तुति, मंत्र और ग्रंथों की सूची

रामभक्त हनुमानजी पर यूं तो हजारों ग्रंथ, गुटका आदि लिखें गए हैं, लेकिन उनकी स्तुति में लिखे गए ग्रंथों में तुलसीदासजी के लिखे का प्रचलन ही ज्यादा है।
तुलसीदासजी ने चालीसा, बजरंग बाण, हनुमान बहुक, हनुमान साठिका, संकटमोचन हनुमानाष्टक, आदि अनेक स्तोत्र लिखे। तुलसीदासजी के पहले भी कई संतों और साधुओं ने हनुमानजी की श्रद्धा में स्तुति लिखी है।

इंद्रा‍दि देवताओं के बाद हनुमानजी पर विभीषण ने हनुमान वडवानल स्तोत्र की रचना की। समर्थ रामदास द्वारा मारुती स्तोत्र रचा गया। आनं‍द में हनुमान स्तुति एवं उनके द्वादश नाम मिलते हैं।

इसके अलावा कालांतर में उन पर हजारों वंदना, प्रार्थना, स्त्रोत, स्तुति, मंत्र, भजन लिखे गए हैं। गुरु गोरखनाथ ने उन पर साबर मं‍त्रों की रचना की है।


और भी पढ़ें :