हिन्दू अमेरिकी समूह ने म्यांमार में हिन्दुओं की हत्या की निंदा की

वॉशिंगटन|


वॉशिंगटन। अमेरिका के एक प्रख्यात हिन्दू समूह ने म्यांमार के संघर्ष प्रभावित रखाइन प्रांत में 28 हिन्दू ग्रामीणों के शवों का सामूहिक कब्रगाह मिलने की रिपोर्ट पर चिंता जताई है। 'हिन्दू अमेरिकन फाउंडेशन' (एचएएफ) इन हत्याओं के मामले में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष जांच का अनुरोध किया है।
म्यांमार के अधिकारियों ने इन 28 हिन्दू ग्रामीणों की हत्याओं के लिए मुस्लिम रोहिंग्या आतंकवादियों को जिम्मेदार बताया है। इनके शव कथित रूप से एक सामूहिक कब्रगाह में मिले हैं।

(एचएएफ) के वरिष्ठ निदेशक एवं 'हिन्दूज इन साउथ एशिया एंड द डायस्पोरा : ए सर्वे ऑफ ह्यूमन राइट्स, 2017' के लेखक समीर कालरा ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय और म्यांमार सरकार को निश्चित रूप से इस जटिल विवाद का शांतिपूर्ण समाधान निकालने की दिशा में एकसाथ मिलकर काम करना चाहिए।

ने कहा कि अभी और ऐसे सामूहिक कब्रगाहों के मिलने की संभावना है, क्योंकि हाल में जो शव बरामद हुए हैं, वे 25 अगस्त को आतंकवादी समूह 'आर्किन रोहिंग्या सॉल्वेशन आर्मी' के हमले का शिकार हुए 100 हिन्दुओं के समूह से जान पड़ते हैं। सऊदी अरब में रोहिंग्या प्रवासी इस आतंकवादी समूह का संचालन करते हैं। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :