नस्लवादी टिप्पणियां लेकिन जीते भारतीय मूल के मेयर

Last Updated: शुक्रवार, 10 नवंबर 2017 (14:48 IST)

होबोकेन, न्यू जर्सी। भारतीय मूल के अमेरिकियों पर हमेशा से नस्लवादी टिप्पणी होती रही है। कभी उन्हें बाहरी कहा जाता है तो कभी आतंकी, लेकिन पिछले दिनों हुए अमेरिकी स्टेट के चुनावों में भारतीयों ने आसानी से बाजी मार ली। ये हैं भारतीय मूल के रवि भल्ला और फाल्गुनी पटेल।

न्यू जर्सी में हुए मेयर के चुनावों में होबोकेन का जीतने के बाद भल्ला ने अपने समर्थकों से कहा कि मुझ पर और हमारे समुदाय पर, हमारे राज्य और देश पर विश्वास करने के लिए धन्यवाद दिया। साथ ही उन्होंने चुनाव जीतने के बाद कहा कि अब समय आ गया है कि हम मिलकर काम करें और अपने शहर को आगे बढ़ाएं।
पटेल न्यू जर्सी के एडिसन काउंटी के एजुकेशन बोर्ड जीती हैं। इसबार मानका धींगरा वाशिंगटन से और विन गोपला न्यू जर्सी से जीती हैं। जबकि पांचवी बड़ी विजेता डिंपल अजमेरा सिटी काउंसिल शॉरलोट, नॉर्थ कैरोलीना से चुनाव जीती हैं।

Ravi Bhalla is the first Sikh elected mayor in New Jersey, and one of only a few Sikhs to become mayor of a U.S. city https://t.co/yX84HrLsHp
— The New York Times (@nytimes) November 9, 2017


बता दें कि रवि भल्ला पहले सिख हैं जो अमेरिकी सिटी के मेयर बने हैं। अमेरिका में 7 नवंबर को गर्वनर, लैजिसलैटिव, म्यूनिसिपल और स्कूल बोर्ड के स्टेट एक्सक्यूटिव के चुनाव हुए। ये चुनाव न्यू जर्सी, वर्जीनिया और दूसरे राज्यों में चुनाव किए गए। भल्ला और पटेल को लेकर इस चुनाव में देश ही नहीं विश्व को भी आकर्षित किया था। इन दोनों पर नस्लीय टिप्पणियां की गई थीं।

44 के भल्ला ने अपने एक इंटरव्यू में कहा कि मैं जीत और हार दोनों के लिए तैयार था। अब जब मैं जीत चुका हूं तो मैं होबोकेन को आगे ले जाने के लिए काम करुंगा।
भल्ला पिछले 17 साल से यहां के निवासी हैं। वह सिटी काउंसिल का चुनाव 2009 और 2013 में दो बार जीत चुके हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :