Widgets Magazine Widgets Magazine
Widgets Magazine
Widgets Magazine

केजरीवाल दिल्ली को स्टेपनी की तरह इस्तेमाल करना बंद करें : योगेन्द्र यादव

पुनः संशोधित शनिवार, 14 जनवरी 2017 (18:58 IST)
नई दिल्ली। स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेन्द्र यादव ने दिल्ली के मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए शनिवार को कहा कि वे दिल्ली को स्टेपनी की तरह इस्तेमाल करना बंद करें।
दिल्ली नगर निगम के चुनावों की तैयारी में जुटी स्वराज इंडिया के एक महीनेभर चलने वाले अभियान 'जवाब दो- हिसाब दो' की जानकारी देने के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन में यादव ने कहा कि उनका यह अभियान रविवार से निगम के सभी 272 वार्डों में पहुंचने की शुरुआत करेगा और 12 फरवरी को रामलीला मैदान में इसका समापन होगा।
 
केजरीवाल के पूर्व सहयोगी रहे यादव ने कहा कि इस अभियान का रविवार से 180 टीमें शुरुआत करेंगी। अभियान के दौरान 10 लाख लोगों तक पहुंचने का लक्ष्य है। इस दौरान राजधानी के लोगों से उनकी समस्याओं को जानकर तथा सरकार तक पहुंचाया जाएगा। 
 
यादव ने कहा कि केजरीवाल को कहीं का भी मुख्यमंत्री बनने का अधिकार है लेकिन वे दिल्ली को स्टेपनी की तरह इस्तेमाल करना बंद करें। उन्होंने कहा कि राजधानी में 'तीन सरकार, तीनों बेकार' हैं। दिल्ली के मात्र 37 प्रतिशत लोगों को यह जानकारी है कि वे किस एमसीडी के तहत आते हैं। मात्र 32 प्रतिशत लोगों को ही अपने वार्ड का पता है। दिल्ली सरकार की लोकप्रियता केंद्र सरकार व एमसीडी के मुकाबले कम है। 
 
उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के आंदोलन से उपजी आम आदमी पार्टी (आप) इस मुहाने पर अब तक पूरी तरह असफल रही है। दिल्ली के 36 प्रतिशत लोगों का मानना है कि आप के आने के बाद भ्रष्टाचार बढ़ा है। 23 प्रतिशत लोग इसे जस का तस बताते हैं जबकि 25 प्रतिशत का मानना है कि इसमें कमी आई है। 
 
स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनुपम ने कहा कि सफाई और स्वच्छता जैसे आम जनता से जुड़े कई ऐसे गंभीर मुद्दे हैं, जो सीधा एमसीडी के कार्यक्षेत्र में आते हैं। उन्होंने कहा कि आगामी एमसीडी चुनावों को मुद्दों का चुनाव बनाएंगे। (वार्ता)
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine
Widgets Magazine Widgets Magazine
Widgets Magazine