केरल में बाढ़ की स्थिति बेहद गंभीर, राजनाथ ने दिया 100 करोड़ का राहत पैकेज

कोच्चि| Last Updated: रविवार, 12 अगस्त 2018 (22:30 IST)
कोच्चि। केंद्रीय गृह मंत्री ने केरल में बाढ़ की स्थिति को 'बेहद गंभीर' करार देते हुए रविवार को राज्य के लिए तत्काल 100 करोड़ रुपए की अतिरिक्त सहायता की घोषणा की।

सिंह ने केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन, राजस्व मंत्री ई चंद्रशेखरन और केंद्रीय राज्य मंत्री अल्फोंस कन्ननथनम के साथ इडुक्की और एर्नाकुलम जिले के हवाई सर्वेक्षण के बाद कहा, 'मैं राज्य सरकार को आश्वस्त करना चाहता हूं कि केंद्र सरकार राज्य में आठ अगस्त से हो रही भारी बारिश के कारण आई भीषण बाढ़ की वजह से उत्पन्न हुई चुनौतियों से निपटने के लिए हरसंभव सहायता देगी।
उन्होंने कहा, 'बारिश और बाढ़ के कारण हुए नुकसान का आकलन करने में कुछ समय लगेगा लिहाजा मैं तत्काल 100 करोड़ रुपए की अतिरिक्त सहायता की घोषणा करता हूं।'

विजयन ने वर्षा जनित घटनाओं में 8316 करोड़ रुपए का नुकसान होने का अनुमान लगाते हुए केंद्र सरकार से तत्काल 1220 करोड़ रुपए की सहायता राशि देने की अपील की है।

गृहमंत्री ने विजयन, राज्य के मंत्रियों, मुख्य सचिव, केंद्रीय एजेंसियों और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मिलकर राज्य और केंद्र की राहत एवं बचाव एजेंसियों के कार्यों की समीक्षा भी की।
निशुल्क बदले जाएंगे क्षतिग्रस्त पासपोर्ट : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज ऐलान किया कि केरल में बाढ़ के दौरान जिन पासपोर्ट को नुकसान पहुंचा है, उन्हें सरकार निशुल्क बदलेगी। स्वराज ने ट्वीट कर कहा, 'केरल में अभूतपूर्व बाढ़ से भारी क्षति हुई है। हमने फैसला किया है कि स्थिति सामान्य होने पर बाढ़ के कारण जिन पासपोर्ट को नुकसान हुआ है, उन्हें निशुल्क बदला जाएगा। कृपया संबंधित पासपोर्ट केंद्रों से संपर्क कीजिए।'

इडुक्की और एर्नाकुलम में भारी तबाही : भारी बारिश से आई बाढ़ और भूस्खलन से सबसे बुरी तरह प्रभावित इडुक्की और एर्नाकुलम जिलों का सिंह ने हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने कहा कि बारिश और बाढ़ से कृषि क्षेत्र और सड़क एवं बिजली जैसी अवसंरचना को ‘भारी नुकसान’ हुआ है।
उन्होंने कहा, 'केरल अभूतपूर्व बाढ़ की स्थिति का सामना कर रहा है। यह अभूतपूर्व है क्योंकि स्वतंत्र भारत के इतिहास में केरल में इस तरह की बाढ़ कभी नहीं आई है।'

सिंह ने ट्वीट कर कहा, 'राज्य में एनडीआरएफ की 11 और टीमों को तैनात किया गया है। इसके साथ ही राज्य में तैनात एनडीआरएफ की टीमों की कुल संख्या 14 हो गई है। जरूरत पड़ने पर हम और टीमों को वहां काम पर लगाएंगे।' राज्य में बारिश से जुड़ी घटनाओं में 37 लोगों की मौत हो गई।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :