डेरा में तलाशी अभियान पूरा, इंटरनेट-रेल सेवा बहाल होगी

पुनः संशोधित रविवार, 10 सितम्बर 2017 (21:51 IST)
Widgets Magazine
सिरसा/चंडीगढ़। हरियाणा के सिरसा में डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय के परिसरों में तीन दिनों से चल रहा आज शाम समाप्त हो गया। वहीं, हरियाणा पुलिस ने पंचकूला हिंसा के सिलसिले में डेरा के एक वरिष्ठ सदस्य गोविंद को गिरफ्तार कर लिया है जबकि डेरा प्रमुख की गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत इंसां को पकड़ने के लिए छापे मारे जा रहे हैं। सोमवार से यहां इंटरनेट सेवा के साथ ही रेल सेवा प्रारंभ हो जाएगी।
 
सुरक्षा बलों और विभिन्न सरकारी विभागों ने सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त के साथ आठ सितंबर को एक समन्वित तलाशी अभियान शुरू किया था। इसमें पुलिस, अर्द्धसैनिक बल और नागरिक प्रशासन के कर्मियों को शामिल किया गया था। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के एक निर्देश पर इसे शुक्रवार को शुरू किया गया था।
 
हरियाणा सरकार के जनसंपर्क विभाग के उप निदेशक सतीश मेहरा ने कहा, ‘डेरा में तलाशी अभियान प्रक्रिया आठ सितंबर से शुरू हुई थी और इसकी निगरानी अदालत आयुक्त एकेएस पवार कर रहे थे। तलाशी अभियान आज तक जारी रहा और यह प्रक्रिया अब पूरी हो गई है।’ 
उन्होंने कहा, ‘अभियान सुगम और शांतिपूर्ण रहा।’ डेरा परिसर करीब 800 एकड़ में फैला हुआ है। तलाशी के लिए इसे 10 भागों में बांटा गया था। मेहरा ने कहा, ‘इस अभियान में लगाई टीमों ने अपनी-अपनी रिपोर्ट अदालत आयुक्त को सौंप दी है, जो अब अपनी रिपोर्ट पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय को सौंपेंगे।’ 
 
तलाशी अभियान में दो गुप्त सुरंगों का पता चला। इनमें से एक सुरंग डेरा प्रमुख के आवास को साध्वियों के हॉस्टल से जोड़ती है जबकि दूसरी सुरंग एक अवैध पटाखा फैक्टरी से जुड़ती है। मेहरा ने इससे पहले बताया था कि अवैध फैक्टरी से एके 47 मैगजीन का एक खाली डिब्बा, 84 कार्टन पटाखें और रसायन, डिजाइनर कपड़े और टोपियां पाई गई हैं।
 
उन्होंने कल बताया था कि एक अन्य फाइबर ग्लास सुरंग का भी सुरक्षा बलों ने पता लगाया है, जो डेरा प्रमुख के निजी आवास से करीब पांच किमी दूर खुलती है। अधिकारियों के मुताबिक शुक्रवार को एक अपंजीकृत लग्जरी कार बरामद की गई थी। 
 
पिछले महीने डेरा प्रमुख को बलात्कार के दो मामलों में अदालत द्वारा दोषी करार दिये जाने के बाद पंचकूला में गुरमीत के समर्थकों ने हिंसा की थी, जिसमें 35 लोग मारे गए थे। इसके मद्देनजर तलाशी अभियान शुरू किया गया। गुरमीत को अदालत ने 20 साल की कैद की सजा सुनाई है।
 
इस बीच, चंडीगढ़ में पुलिस ने बताया कि पंचकूला में 25 अगस्त को कथित तौर पर हिंसा भड़काने को लेकर डेरा की प्रदेश इकाई के वरिष्ठ सदस्य गोविंद को गिरफ्तार कर लिया गया है। डेरा प्रमुख सिंह को अदालत द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद हिंसा की यह घटना हुई थी।
 
पुलिस ने आज बताया कि गोविंद घटना के दिन पंचकूला में हिंसा के केंद्र हैफेड चौक पर मौजूद था। पंचकुला पुलिस आयुक्त एएस चावला ने आज बताया कि ‘हमने उसे जीरकपुर से गिरफ्तार किया है।’ 
 
चावला ने यह भी बताया कि पुलिस डेरा सच्चा सौदा के दो प्रमुख लोगों (हनीप्रीत और आदित्य इंसां) की भी तलाश कर रही है। ‘उम्मीद है उन्हें जल्द पकड़ लिया जाएगा।’ हरियाणा पुलिस की एक टीम हनीप्रीत की तलाश करने नेपाल से लगे उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी भेजी गई थी।
 
पुलिस ने हनीप्रीत और आदित्य के देश छोड़कर भागने की आशंका के चलते उनके खिलाफ एक सितंबर को ‘लुक आउट नोटिस’ जारी किया था। पुलिस के अनुसार ‘हम कई स्थानों पर छापे मार रहे हैं। हमारी टीमें उनका पता लगाने कई इलाकों में गई हैं।’ (भाषा/वेबदुनिया) 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।