मन के हारे हार है,मन के जीते जीत




क्या आपने कभी सोचा है कि के रूप में कितनी अद्भुत चीज़ हमारे पास है।कहते हैं ना, 'मन के हारे हार है,मन के जीते जीत।' मन यदि सधा हुआ हो,तो आप जग जीत सकते हैं और यदि मन नियंत्रण में न हो,तो जीती हुई बाज़ी भी हार सकते हैं।
वस्तुतः हम मन को लेकर सुलझे कम,उलझे अधिक रहते हैं। इच्छाओं,कामनाओं,वासनाओं को मन की वृत्तियाँ जानकर उनके मायाजाल में आबद्ध रहते हैं और मन की अखूट शक्ति अनजानी,अछूती,अप्रयुक्त ही रह जाती है।

मन ही सारे भावों का उद्गम स्थल है। राग,द्वैष,क्रोध,चिंता,हर्ष,अमर्ष आदि सभी भाव यहीं उपजते हैं,विस्तार पाते हैं और शमित भी होते हैं। संस्कार और सोच के अनुसार मन में इनका स्थान और कालावधि तय होते हैं।
जो भाव सकारात्मक हैं, वे प्रशंसित और जो नकारात्मक हैं, वे निन्दित होते हैं।जो सत् भावों को वरीयता दे,वो अच्छे मन वाला और जो दुर्भावों को पाले,वो कुटिल माना जाता है।
कुल मिलाकर कहें,तो मन से ही व्यक्तित्व की दिशा तय होती है। जो भीतर है,वही बाहर झलकता है। आचरण,मन का प्रतिबिम्ब है और मन अन्तर्जगत का।
हममें से अधिकांश मन द्वारा शासित हैं और यही हमारे दुःख का कारण है।हम जीवन की विविध अनुकूल-प्रतिकूल परिस्थितियों के आलोड़न-विलोड़न में स्वनिर्मित मनोभावों से संचालित होते हैं।सुख में सुखी और दुःख में महादुखी। बस,यहीं से सारी समस्या आरम्भ हो जाती है। सुख में तो सभी प्रसन्न होते हैं, लेकिन दुःख में भी जो समान भाव से आनंदित रहे,वो मन का राजा।

सच तो यह है कि मन पर जिसने शासन करना जान लिया,वो सदा के लिए सुख को उपलब्ध हो गया। भारतीय आद्य परम्परा में ऋषि-मुनि और संत जन इसीलिए सदैव प्रसन्न रहते थे क्योंकि वे मन को निरपेक्ष कर लेते थे और उसकी दिव्य शक्तियों का उपयोग कर बड़े-बड़े लोकहितकारी कार्यों को अंजाम देते थे।
वस्तुतः मन एक व्यापक धरातल को अपने अस्तित्व में समेटे हुए है। इसकी शक्ति असीमित है।

दुनिया में जितने महान आविष्कार हुए,जितने सुन्दर निर्माण हुए,जितने उल्लेखनीय काम हुए,जितनी रचनात्मक कलाएं अस्तित्व में आईं, सब मन की दृढ़ संकल्प शक्ति का कमाल है।

ज़रूरत मन की अपार क्षमताओं को पहचानने की है। उसकी सकारात्मक ऊर्जा को जानने की है। स्मरण रखिये,श्रेष्ठ परिणाम मन के मजबूत इरादों से ही जन्मते हैं। इसलिए जब भी प्रतिकूलताएं हावी होने का प्रयास करें,आप मन को ढाल बना लीजिये।
विचार नकारात्मक राह पकड़ लें,तो मन की सकारात्मकता का चाबुक चला लीजिये। भाव संकुचित होने लगें,तो मन की विशाल और उदात्त भूमि पर उन्हें मुक्त छोड़ दीजिये।

मेरा विश्वास है कि निज मन को इस प्रकार जीत लेना ही अनेक युगीन समस्याओं का समाधान होगा।

शायर जमील मज़हरी कहते हैं-
"जलाने वाले जलाते ही हैं चराग़ आख़िर
ये क्या कहा कि हवा तेज़ है ज़माने की।"

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

पीरियड में यह 5 काम भूल कर भी न करें वरना....

पीरियड में यह 5 काम भूल कर भी न करें वरना....
आपका पहला पीरियड हो या अनगिनत बार आ चुके हों, इन्हें झेलना इतना आसान नहीं। मुश्किलभरे उन ...

6 बहुत जरूरी सवाल जो हर महिला को अपनी गायनोकोलॉजिस्ट से ...

6 बहुत जरूरी सवाल जो हर महिला को अपनी गायनोकोलॉजिस्ट से पूछना चाहिए
क्या आप उन लोगों में से हैं जिन्होंने कभी एक लेडी डॉक्टर से मिलने की जरूरत नहीं समझी? आप ...

3 स्वर, 3 नाड़ियां... जीवन और सेह‍त दोनों को बनाते हैं शुभ, ...

3 स्वर, 3 नाड़ियां... जीवन और सेह‍त दोनों को बनाते हैं शुभ, जानिए क्या है स्वरोदय विज्ञान
स्वर विज्ञान को जानने वाला कभी भी विपरीत परिस्थितियों में नहीं फंसता और फंस भी जाए तो ...

घर में रोशनी कम रहती है तो यह हो सकता है खतरनाक, पढ़ें रोशनी ...

घर में रोशनी कम रहती है तो यह हो सकता है खतरनाक, पढ़ें रोशनी बढ़ाने के 5 टिप्स
घर या कमरे में कम रोशनी न केवल घर की सजावट को कम करती है बल्कि रहने वाले सदस्यों की सेहत ...

बदल डालें घर का इंटीरियर और नए घर में रहने जैसा अहसास ...

बदल डालें घर का इंटीरियर और नए घर में रहने जैसा अहसास पाएं...
घर में सारा सामान सुव्यवस्थित जमा हुआ है फिर भी कुछ कमी लगती है? किसी नएपन के अहसास की ...

गंगा के उद्गम में हरे पेड़ों को बचाने की मुहिम

गंगा के उद्गम में हरे पेड़ों को बचाने की मुहिम
'ऊंचाई पर पेड़ रहेंगे, नदी ग्लेश्यर टिके रहेंगे', 'चाहे जो मजबूरी होगी, सड़क सुक्की बैड से ...

मुसलमान : वक़्त बदला, हालात नहीं

मुसलमान : वक़्त बदला, हालात नहीं
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मुस्लिम बुद्धिजीवियों से मुलाक़ात कर रहे हैं। अगर वे ...

1 अगस्त को शुक्र करेंगे नीच राशि कन्या में प्रवेश, जानें 12 ...

1 अगस्त को शुक्र करेंगे नीच राशि कन्या में प्रवेश, जानें 12 राशियों पर क्या होगा प्रभाव
1 अगस्त 2018 दिन के 12 बजकर 17 मिनिट से शुक्र राशि परिवर्तन कर कन्या राशि में प्रवेश ...

श्रावण में बनाएं चटपटे साबूदाना पनीरी रोल, पढ़ें सरल विधि

श्रावण में बनाएं चटपटे साबूदाना पनीरी रोल, पढ़ें सरल विधि
साबूदाने को एक कप पानी में 1 घंटे के लिए भिगो दें। हरा धनिया, हरी मिर्च बारीक काट लें।

ग़ज़ब के होते हैं करी पत्ते... फायदे जानकर आप हर सब्जी में ...

ग़ज़ब के होते हैं करी पत्ते... फायदे जानकर आप हर सब्जी में इन्हें डालेंगे
करी पत्ते का पौधा आपके या आपके पड़ोसियों के घर में आपको जरूर लगा मिलेगा। यह जितनी आसानी से ...