0

कविता संग्रह, जो वाक़ई ख़ास है...

सोमवार,जनवरी 15, 2018
0
1
'सफ़र संघर्षों का' काव्य संग्रह प्रथम काव्य 'वह बजाती ढोल' का द्वितीय भाग है जिसमें मां के संघर्ष की व्यथा को शाब्दिक ...
1
2
किताबों की भीड़ में सिर्फ वही किताबें टिकने की आश्वस्ति दे सकती हैं जो सच के करीब हों और सटीक भी। उदय सहाय की संपादित ...
2
3
हम सब जानते हैं कि विश्व संवाद केंद्र, भोपाल पत्रकारिता के क्षेत्र में भारतीय मूल्यों को लेकर सक्रिय है। विश्व संवाद ...
3
4
इसकी कहानी शुरु होती है जब चार लड़के पहली बार कॉलेज में मिलते हैं। रैगिंग के दौरान हुई एक घटना इन्हें चिरकुट्स बना देती ...
4
4
5
यह पुस्तक लन्दन में रची एक रोमांटिक/इरोटिक कहानी है जो किशोर और युवा मन की उलझनों, ग्रंथियों, उमंगों और आकांक्षाओं की ...
5
6
ये गुलजार की नज़्मों का मजमुआ है जिससे हमें एक थोड़े अलग मिजाज के गुलजार को जानने का मौका मिलता है। बहैसियत गीतकार ...
6
7
पद्मिनी रणथम्भौर से सम्बन्धित है और रणथम्भौर के किले में कुछ स्थलों के नाम इसके प्रमाण हैं। उनके विचार से पद्मिनी ...
7
8
डॉक्टर ओमानंद की पुस्तक 'यथार्थ योग, जीवन रूपांतरण का फार्मूला' बहुत ही प्रभावकारी है। इस पुस्तक में योग के संपूर्ण ...
8
8
9
कुंवर नारायण इस समय भारत ही नहीं विश्व के श्रेष्ठ कवियों में से हैं। विश्व साहित्य के गहन अध्येता कुंवर नारायण ने आधी ...
9
10
इंदौरी की शायरी एक खूबसूरत कानन है, जहां मिठास की नदी लहराकर चलती है। विचारों का, संकल्पों का पहाड़ है, जो हर अदा से ...
10
11
लेखनी विचारों को स्थायित्व प्रदान करती है। इस मार्ग से ज्ञान जन साधारण के मन में घर कर लेता है। अच्छा और बुरा दोनों ...
11
12

​जनजातीय जीवन में राम

शनिवार,अक्टूबर 28, 2017
​​​​​जनजातियों में भी रामकथा का विस्तार 'श्रुति' और 'स्मृति' के माध्यम से हुआ। जनजातियों के जीवन का सारा कार्य-व्यापार ...
12
13
‘अभ्युदय’ रामकथा पर आधृत हिन्दी का पहला और महत्त्वपूर्ण उपन्यास है। ‘दीक्षा’, ‘अक्सर’, ‘संघर्ष की ओर’ तथा ‘युद्ध’ के ...
13
14
अचला बंसल के कहानी- संग्रह 'बहरहाल धन्यवाद' का लोकार्पण ऑक्सफोर्ड बुकस्टोर में वरिष्ठ पत्रकार ओम थानवी द्वारा किया गया। ...
14
15

पुस्तक समीक्षा : शब्द पखेरू

मंगलवार,अक्टूबर 10, 2017
ए तेवर, नई भाषा-शैली में लिखा नासिरा शर्मा का यह एक मार्मिक उपन्यास है, जो नई पीढ़ी के गहरे दुखों व जद्दोज़हद से हमारा ...
15
16
बापू मर नहीं सकते। भारत ही नहीं दुनिया के तमाम देशों के विचारों में बापू यानी महात्मा गांधी का संदेश गूंज रहा है। गांधी ...
16
17
साहित्य गंभीर होता है। शायद यही वजह है कि साहित्य के पाठक कम होते हैं। पत्रकारिता की शैली में पठनीयता होती है, क्योंकि ...
17
18
नागार्जुन जीवन और कविता में बेहद बेलिहाज और निडर व्यक्तित्व वाले सर्जक रहे हैं। हिन्दी में तो वे संस्कृत पण्डितों और ...
18
19
कोई भी सर्व सत्तावादी जिस चीज से सबसे ज्यादा डरता है वह है व्यंग्य। वह व्यंग्य को बर्दाश्त नहीं कर पाता यहां तक कि ...
19