दीपोत्सव विशेष : दिवाली की रात में

दिवाली की रात में, दीये जलाते लोग। मां लक्ष्मी को पूजते, चढ़ा-चढ़ाकर भोग। चढ़ा-चढ़ाकर भोग, चाहते लक्ष्मी आए। उनके घर का तमस, हमेशा को मिट जाए।

Widgets Magazine

दीपावली पर कविता : दीप पर्व

है दीप पर्व आने वाला, हमको भी दीप जलाना है, मन के अंदर जो बसा हुआ, सारा अंधियार मिटाना ...

कविता : दीपों का त्योहार

आया दीपों का त्योहार। लाया खुशियों का उपहार।। जले फुलझड़ी जले अनार। बच्चों का प्यारा ...

बाल साहित्य : अच्छी लगती है दिवाली

लगता है बड़ा अच्छा, दिवाली का ये त्योहार पापा। मिलते हैं ढेरों उपहार, और मिलता है प्यार ...

बाल साहित्य : तोते की सीख‌

सुबह-सुबह जल्दी से उठकर, तोता कहता नमस्कारजी। छोड़ो आलस, बिस्तर त्यागो। जागो रजनी, दीपक ...

बाल साहित्य : आई दिवाली...

आई दिवाली, छाई दिवाली। सबके मन को भाई दिवाली। दिवाली त्योहार है अच्छा, जिसे मनाता है हर ...

बाल कविता : जेसीबी की बड़ी मशीन

कुछ मीठी, कड़वी, नमकीन, जेसीबी की बड़ी मशीन। बांध, सड़क, पुल जहां बनाती, मीठापन आभास कराती। ...

बाल साहित्य : अब मत चला कुल्हाड़ी

अब मत चला कुल्हाड़ी बंदे, अब मत चला कुल्हाड़ी। देख रहा तू इसी कुल्हाड़ी, ने काटे कई ...

कविता : चन्दा मामा

चन्दा मामा अच्छे मामा दूर-दूर क्यों रहते हो। मेरी अम्मा रोज बुलाती क्यों रूठे-रूठे रहते ...

बात याद है गांधी वाली

झाड़ू लेकर साफ-सफाई, कर दी अपने कमरे की। टेबिल कंचन-सी चमकाई। कुर्सी की सब धूल उड़ाई। ...

राख करो फिर से लंका

जगे भवानी देश की, उठे भवानी देश की। ध्वजा नहीं झुकने देंगे, अपने पावन देश की।। मेघनाद ...

बापू पर कविता : प्रजातंत्र के रखवाले...

बापू हमारे देश में, नेता हैं खादी के वेश में, प्रजातंत्र के रखवाले हैं, देश इनके हवाले है ...

बाल साहित्य : सत्य की राह..

बापू जैसा बनूंगा मैं, राह सत्य की चलूंगा मैं। बम से बंदूकों से नहीं, बापू जैसा लडूंगा

चटपटी कविता : चूहे चाचा की शादी में...

चूहे चाचा की शादी में, बारिश हुई अपार। दो सौ लोग बुलाए उसने, पहुंचे केवल चार।। चले बाराती ...

मजेदार कविता : हौसला अपना बुलंद कर लो...

अपने मनोबल को इतना सशक्त कर, कठिनाई भी आने से जाए डर। आत्मविश्वास रहे तेरा हमसफर, ...

बाल साहित्य : दसों दिशाएं...

सुबह सबेरे उगता सूरज, उधर खड़े हो जाएं मुंह कर। ठीक सामने होता पूरब और दिशा बाएं हैं ...

बाल साहित्य : बुलेट ट्रेन में कहीं चलें

चलो फटाफट टिकट कटा लें, बुलेट ट्रेन में कहीं चलें। घंटे भर में छिंदवाड़ा से,जबलपुर पहुंचा ...

बाल साहित्य : अच्छा जीवन

नित आईने में देख अपना चेहरा संवार लिया, कभी दिल के आईने में झांककर मन साफ बनाना है। अच्छे ...

बाल कविता : लड़की है घर की मुस्कान‌

मुझे काम कुछ करने ना दे, यह गुड़िया कितनी शैतान। पढ़ने बैठूं पढ़ने ना दे, लिखने बैठूं कलम ...

Widgets Magazine

लाइफ स्‍टाइल

अपने दिमाग पर दया करें, थोड़ा कम सोचें

। मनोवैज्ञानिकों के अनुसार 24 घंटे में एक नॉर्मल युवा के मन में लगभग 60,000 विचार चलते हैं और एक ...

गले में खराश, पेश है इलाज

गले की कोई भी समस्या है तो उसके लिए घरेलू उपचार कर सकते हैं। रात को सोते समय दूध और आधा पानी मिलाकर ...

Widgets Magazine

जरुर पढ़ें

दीपोत्सव विशेष : दिवाली की रात में

दिवाली की रात में, दीये जलाते लोग। मां लक्ष्मी को पूजते, चढ़ा-चढ़ाकर भोग। चढ़ा-चढ़ाकर भोग, चाहते ...

सरहद पार चमकती भारतीय त्योहारों की रोशनी

जिस प्रकार से भारतीय नदियों ने उत्तर से दक्षिण तथा पूरब से पश्चिम तक पूरे राष्ट्र को एक सूत्र में ...

लक्ष्मी प्राप्ति के लिए दीपावली पर करें यह उपाय

दीपावली के दिन मां लक्ष्मी के मंदिर में जाकर कमल पुष्प, गुलाब पुष्प, गन्ना, कमल गट्टे की माला ...

Widgets Magazine