खून में आयरन की कमी के 10 लक्षण

पुनः संशोधित शनिवार, 2 जून 2018 (14:31 IST)
को उसका लाल रंग भी देता है और शरीर में ले जाने का काम भी करता है। लेकिन अगर की कमी हो, तो हीमोग्लोबिन ठीक से नहीं बन पाता। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में आयरन की कमी ज्यादा देखी जाती है।
थकान
अधिकतर महिलाएं इसे संजीदगी से नहीं लेतीं। उन्हें लगता है कि उम्र के साथ फुर्ती का कम होना सामान्य बात है। लेकिन अगर आप घर का थोड़ा सा काम कर के भी थका हुआ महसूस करती हैं या फिर दफ्तर में आप अपने काम पर ध्यान नहीं लगा पा रही हैं, तो अपने खून का टेस्ट कराएं।

फीका चेहरा
हीमोग्लोबिन खून को उसका लाल रंग देता है, जिससे चेहरे को अपनी रंगत मिलती है। हीमोग्लोबिन कम होगा तो चेहरा फीका और पीला सा दिखेगा। डॉक्टर भी आंखों के नीचे का लाल हिस्सा इसीलिए चेक करते हैं।
दर्दनाक पीरियड्स
अगर पीरियड्स के दौरान खून का रिसाव बहुत ज्यादा हो रहा है, तो इससे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा में कमी आ सकती है। ऐसे में डॉक्टर को दिखाना जरूरी है। पीरियड्स के दौरान फल, सब्जी और दालों की मात्रा बढ़ाएं।

सांस फूलना
अगर सीढ़ियां चढ़ते हुए या रोजमर्रा के काम करते हुए आपकी सांस फूलने लगती है, तो यह आयरन की कमी की ओर इशारा है। पुरुषों में सामान्य हीमोग्लोबिन 13.5 से 17.5 ग्राम और महिलाओं में 12.0 से 15.5 ग्राम प्रति डीएल होता है, जबकि गर्भवती महिलाओं में यह 11 से 12 के बीच ही रहता है।
तेज धड़कनें
हीमोग्लोबिन का काम शरीर में सही मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचाने का होता है। इसकी कमी के कारण जब दिल तक ऑक्सीजन ठीक से नहीं पहुंच पाती, तो सांस फूलने के साथ साथ धड़कनें भी काफी तेज हो जाती हैं।

टांगें हिलाना
अक्सर घर में बच्चों को ऐसा करने से मना किया जाता है। लेकिन रिसर्च दिखाता है कि जिन लोगों में आयरन की कमी होती है, उनका अपनी टांगों पर नियंत्रण नहीं रहता और वे अनजाने में ही टांगें हिलाने लगते हैं।
सर दर्द
सिर्फ दिल ही नहीं, दिमाग के लिए भी ऑक्सीजन का सही मात्रा में होना बेहद जरूरी है। ऐसा ना होने पर सर में तेज दर्द होता है। ऐसे में डिस्प्रिन से कोई फायदा नहीं होता।

घबराहट
ऑक्सीजन की ही कमी के कारण घबराहट भी महसूस होती है। आपको लग सकता है कि शायद आपके ब्लड प्रेशर के साथ कुछ गड़बड़ है। ऐसे में आयरन की गोलियां लेने से फायदा होता है। साथ ही संतरे का रस पिएं क्योंकि विटामिन सी के बिना आयरन का खून में मिलना मुश्किल होता है।
अजीब चीजों की ललक
गर्भावस्था के दौरान अक्सर शरीर में आयरन की मात्रा कम हो जाती है। ऐसे में कई महिलाओं को चॉक, मिट्टी या फिर कागज जैसी चीजें खाने का मन करने लगता है। बहुत सी महिलाओं को बर्फ की ललक भी होती है।

बालों का झड़ना
जब शरीर में किसी भी चीज की कमी होती है, तो शरीर प्राथमिकताएं तय करता है। बाल और नाखून उतने जरूरी नहीं जितना दिल और दिमाग का ठीक से काम करना। इसलिए शरीर बालों और नाखूनों की देखभाल बंद कर देता है।


और भी पढ़ें :