सेंचुरियन में भी चार तेज़ गेंदबाज करेंगे हमला : गिब्सन

पुनः संशोधित बुधवार, 10 जनवरी 2018 (19:02 IST)
केपटाउन। भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में मिली सफलता से उत्साहित दक्षिण अफ्रीका के कोच ओटिस गिब्सन ने कहा है कि वे शनिवार से सेंचुरियन में शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट में भी मेहमान टीम के खिलाफ चार तेज़ गेंदबाज़ों के साथ ही हमला करेंगे।

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट पार्क में शनिवार से दूसरा टेस्ट शुरू होगा और इससे पहले मेज़बान टीम के कोच गिब्सन ने संकेत दिए हैं कि वे आगे भी अपनी एक ही रणनीति को जारी रखेंगे। मेजबान टीम ने केपटाउन में पहला मैच चार दिन के भीतर ही निपटाते हुए 72 रन से जीत अपने नाम कर ली थी। गिब्सन ने कहा कि टीम का संयोजन आगे भी नहीं बदलेगा।

उन्होंने कहा कि मैं तेज़ गेंदबाज़ों को खेलाने के पक्ष में रहा हूं और मुझे लगता है कि आगे भी हम चार तेज़ गेंदबाज़ों को उतारेंगे। हम मैच के हिसाब से परिस्थतियों का जायज़ा करेंगे और फिर देखेंगे कि चार तेज़ गेंदबाज़ों को उतारा जा सकता है या नहीं और अन्यथा अलग तरह से क्रम तैयार करेंगे।

उन्होंने कहा कि खासतौर पर इस सीरीज़ में और बाकी घरेलू सत्र में भी हम टीम में चार तेज़ गेंदबाज़ों के साथ उतरने की रणनीति पर काम करना चाहते हैं। केपटाउन में पहले मैच में अफ्रीकी टीम ने अपने चार सबसे मजबूत तेज़ गेंदबाज़ों डेल स्टेन, वेर्नाने फिलेंडर, मोर्न मोर्कल और कैगिसो रबादा को उतारा था। हालांकि स्टेन मैच के बीच में ही चोटिल होकर बाहर हो गए और फिलहाल पूरी सीरीज़ से बाहर हैं।

दक्षिण अफ्रीका की पिचों को तेज़ गेंदबाज़ों के लिए मददगार माना जाता है और उम्मीद है कि अगले मैचों में भी पिच इसी प्रकार उछाल भरी और तेज़ रहेगी। ऐसे में अफ्रीकी कोच अपने संयोजन में बदलाव करने के पक्ष में नहीं है। स्टेन के एड़ी में चोट के कारण बाहर होने से डुआने ओलिवियर और लुंगी एनगिदी में से कोई टीम का हिस्सा हो सकता है।

गिब्सन ने कहा कि जब आप घरेलू मैदान पर खेल रहे होते हैं तो आपको अपनी ताकत के बारे में पता होता है। यदि आप दुनिया की मजबूत टीम को हराना चाहते हैं जो फिलहाल भारत है तो निश्चित ही हमें पहले से कुछ अलग और बेहतर करना होगा। आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में भारत दुनिया की नंबर एक जबकि
दक्षिण अफ्रीका दूसरे नंबर की टीम है।

दक्षिण अफ्रीकी कोच ने कहा कि हमें गेंद और बल्ले से ही खुद को मजबूत करना होगा तथा हमारे गेंदबाज़ों की तेज़ी हमारे लिए अहम होगी। पिछले मैच में तीन गेंदबाज़ों ने 140 किलोमीटर प्रति घंटा की तेज़ी के साथ खेल गेंदे डालीं और इसने दिखाया कि हम कहां हैं। दक्षिण अफ्रीका मौजूदा तीन मैचों की सीरीज़ में 1-0 से आगे है और सेंचुरियन में वह 2-0 से सीरीज़ पर कब्जा करने उतरेगी जबकि भारत के लिये यह करो या मरो का मैच होगा। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :