18 वर्ष बाद रणजी ट्रॉफी में लौटा बिहार केवल 2 दिन में हारा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 2 नवंबर 2018 (17:57 IST)
देहरादून। 18 वर्ष के लम्बे अंतराल के बाद रणजी में लौटे को नवोदित टीम के हाथों मात्र 2 दिन के अंदर प्लेट मैच में शुक्रवार को 10 विकेट की करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा। बिहार की टीम पहले दिन 22.1 ओवर में मात्र 60 रन पर ढेर हो गई थी।


उत्तराखंड ने सात विकेट पर 201 रन से आगे खेलते हुए अपनी पहली पारी में 227 रन बनाए। उत्तराखंड को पहली पारी में 167 रन की बढ़त मिली। बिहार ने अपनी दूसरी पारी में 169 रन बनाए और किसी तरह पारी की हार को टाल दिया।

उत्तराखंड को जीत के लिए 3 रन का लक्ष्य मिला जो उसने बिना कोई विकेट खोए 4 रन बनाकर हासिल कर लिया। कर्ण वीर कौशल ने पहली ही गेंद पर विजई चौका मार दिया। उत्तराखंड को इस जीत से सात अंक मिले। दीपक धोपोला को मैच में उनके कुल 9 विकेट के शानदार प्रदर्शन की बदौलत 'मैन ऑफ द मैच' का पुरस्कार मिला।

बिहार ने हाल में एकदिवसीय विजय हजारे ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन किया था और टीम नॉकऑउट दौर तक पहुंची थी लेकिन 18 वर्ष बाद रणजी ट्रॉफी में उसकी शुरुआत हार के साथ हुई।



उत्तराखंड की पहली पारी में कप्तान रजत भाटिया 57 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 38 रन बनाकर नाबाद रहे। मालोलन रंगराजन ने 13 रन बनाए। बिहार की तरफ से आशुतोष अमन ने 34 रन पर 4 विकेट और समर कादरी ने 77 रन पर तीन विकेट लिए।

बिहार की दूसरी पारी में भी स्थिति अच्छी नहीं रही और उसने अपने आठ विकेट मात्र 105 रन तक गंवा दिए। कुमार रजनीश ने 16, बाबुल कुमार ने 14, केशव कुमार ने 23 और रहमतुल्लाह ने 23 रन बनाए।

8 विकेट गंवाने के बाद बिहार पर पारी की हार का खतरा मंडरा रहा था लेकिन समर कादरी ने 43 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 36 और अनुनय सिंह ने 56 गेंदों में चार चौकों और दो छक्कों के सहारे 35 रन बनाकर पारी की हार को टाल दिया।

बिहार की दूसरी पारी 50.5 ओवर में 169 रन पर सिमटी। धपोला ने 48 रन पर 3 विकेट, सनी कश्यप ने 51 रन पर 4 विकेट और धनराज शर्मा ने 30 रन पर 2 विकेट लिए।


और भी पढ़ें :