रणजी सत्र से पूर्व पंडित ने वीसीए से पूछा, इनामी राशि का आप क्या करोगे

पुनः संशोधित मंगलवार, 2 जनवरी 2018 (14:45 IST)
इंदौर। कमजोर माने जाने वाले खिलाड़ियों के साथ भारत के सबसे प्रतिष्ठित घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट को जीतना छोटी उपलब्धि नहीं है, लेकिन विदर्भ के कोच चंद्रकांत पंडित इतने आश्वस्त थे कि वे की शुरुआत में ही इस उपलब्धि के लिए मिलने वाले पुरस्कार को लेकर पूछताछ करने लगे थे।
पांच दशक के प्रयास के बाद पहला रणजी ट्रॉफी खिताब जीतने के बाद विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) के उपाध्यक्ष ने वे समय याद किया जब पिछले सत्र में अनुबंध होने के बाद पंडित ने पूछा था कि वे इनामी राशि का क्या करेंगे। वीसीए के हैरान अधिकारी ने इस पर पंडित से पूछा था कि वे किस इनामी राशि की बात कर रहे हैं? इस पर कई बार के रणजी विजेता कोच ने कहा कि वह जो रणजी ट्रॉफी विजेता को मिलता है।

यहां खिताबी मुकाबले में दिल्ली पर विदर्भ की नौ विकेट की जीत के बाद वैद्य ने कहा कि वे इतने आत्मविश्वास से भरे थे कि ट्रॉफी जीतने के बारे में सोचने लगे थे, इसलिए मैंने सोचा कि यह सत्र विदर्भ के लिए अच्छा होने वाला है। उसके (पंडित के) पहले दिन नागपुर आने के साथ ही मैंने विश्वास करना शुरू कर दिया था। प्रथम श्रेणी कोच के रूप में पंडित का रिकॉर्ड शानदार है।

इस पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने कोच के रूप में तीन बार रणजी खिताब जीता और इस दौरान चार बार उनकी टीम फाइनल में पहुंची। पिछले सत्र में गुजरात के खिलाफ फाइनल में हार के बाद मुंबई ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया। मुंबई का यह नुकसान विदर्भ के लिए फायदेमंद साबित हुए क्योंकि रणजी विजेता खिलाड़ी और कोच के रूप में पंडित का अनुभव टीम के काफी काम आया। पंडित ने कहा कि मैं हमेशा उपलब्धियों के बारे में सोचता हूं। सभी खिताब जीतना चाहते हैं लेकिन मुझे लगता है कि यह जीत टीम को ही नहीं बदलेगी बल्कि इसका युवाओं पर भी असर होगा। 14 या 16 साल के खिलाड़ी भी आगे बढ़कर कह सकेंगे कि वे भी जीत सकते हैं।

विदर्भ में इस तरह की संस्कृति से मुझे खुशी होगी। पंडित का काम करने का अपना तरीका है और उन्हें इसमें किसी तरह का हस्तक्षेप पसंद नहीं है। उन्होंने कहा कि हम अपना नियमित कार्य करते है और यह सर्वश्रेष्ठ चीज है जो हमने की। सारा श्रेय खिलाड़ियों को जाता है क्योंकि उन्होंने कड़ी मेहनत की।

उन्होंने जिस तरह मेरा सम्मान किया उससे मैं काफी खुश हूं और खिलाड़ियों ने कभी उस प्रणाली की अनदेखी नहीं की जिसका हमने पालन किया। पंडित ने अपने अभियान में मदद के लिए सहयोगी स्टाफ भी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि जब आप अच्छा नहीं करते तो लोग कहते हैं कि टीम में एकजुटता नहीं है।

ऐसा नहीं है। सहयोगी स्टाफ भी उतनी ही मदद करता है। गेंदबाजी कोच सुब्रतो बनर्जी का काफी सहयोग मिला। उन्होंने कहा कि तेज गेंदबाजों का प्रदर्शन देखो, विशेषकर (रजनीश) गुरबानी का, इससे मदद मिली। वसीम जाफर, सतीश आदर्श हैं। उन्होंने कहा कि आज (अक्षय) वाडकर जैसे युवाओं ने अच्छा प्रदर्शन किया क्योंकि फैज (फजल) जैसे खिलाड़ियों ने ड्रेसिंग रूम में सकारात्मक ऊर्जा डाली। हम उन्हें निखार भी रहे हैं। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

Cricket Update

 

धोनी वनडे क्रिकेट से संन्यास ले रहे हैं, संकेत तो ऐसे ही ...

धोनी वनडे क्रिकेट से संन्यास ले रहे हैं, संकेत तो ऐसे ही मिल रहे हैं...
तो क्या आलोचनाओं से जूझ रहे महेंद्रसिंह धोनी दे रहे हैं वनडे क्रिकेट से संन्यास के संकेत! ...

अर्जुन तेंदुलकर ने लिया पहला अंतरराष्ट्रीय विकेट, विनोद ...

अर्जुन तेंदुलकर ने लिया पहला अंतरराष्ट्रीय विकेट, विनोद कांबली को आए आंसू
कोलंबो। महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय ...

धोनी की सफेद दाढ़ी का क्या है राज?

धोनी की सफेद दाढ़ी का क्या है राज?
टीम के विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने दूसरे मैच में खासी सुर्खियां बटोरी।

फ्रांस के 'सुपर स्टार' बने एम्बाप्पे ने विश्व कप की पूरी ...

फ्रांस के 'सुपर स्टार' बने एम्बाप्पे ने विश्व कप की पूरी कमाई दान की
पेरिस। 1998 के बाद दूसरी बार फीफा विश्व चैंपियन बनने वाली फ्रांस टीम की चर्चा दुनिया में ...

पिता थे चपरासी, बेटा बना भारतीय फुटबॉल टीम का मेसी

पिता थे चपरासी, बेटा बना भारतीय फुटबॉल टीम का मेसी
यूपी के मुजफ्फरनगर जिले के एक फुटबॉल खिलाड़ी नीशू कुमार को भारतीय नेशनल टीम में शामिल ...

IND Vs ENG : टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान, रोहित ...

IND Vs ENG : टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान, रोहित और भुवनेश्वर बाहर
इंग्लैंड के खिलाफ 1 अगस्त से शुरू हो रही 5 टेस्ट मैचौं की सीरीज के लिए बीसीसीआई ने भारतीय ...

क्या सिर्फ आईपीएल खेलने लायक ही बचे हैं धोनी?

क्या सिर्फ आईपीएल खेलने लायक ही बचे हैं धोनी?
धोनी के आईपीएल प्रदर्शन और वनडे क्रिकेट के प्रदर्शन में थोड़ा बहुत नहीं जमीन आसामान का ...

मोर्गन ने कहा, हमने सभी विभागों में दबदबा बनाया

मोर्गन ने कहा, हमने सभी विभागों में दबदबा बनाया
लीड्स। इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन ने कहा कि उनकी टीम ने भारत के खिलाफ तीसरे और ...

शार्दूल ने कहा, सिर्फ एक मैच में खेलना आसान नहीं होता

शार्दूल ने कहा, सिर्फ एक मैच में खेलना आसान नहीं होता
लीड्स। भारत के तेज गेंदबाज शार्दूल ठाकुर का मानना है कि बेंच से आकर सीधे दबाव वाले मैच ...

भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने फ्रेंच टूर्नामेंट में जीता ...

भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने फ्रेंच टूर्नामेंट में जीता स्वर्ण
नई दिल्ली। भारत के स्टार भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने फ्रांस में सोतेविले एथलेटिक्स ...