आईसीसी ने एशेज़ टेस्ट के बाद एमसीजी पिच को बताया 'खराब'

पुनः संशोधित मंगलवार, 2 जनवरी 2018 (15:09 IST)
मेलबोर्न। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच चौथे एशेज टेस्ट के आयोजन स्थल मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) की को खराब करार दिया है। इस पिच पर पांच दिन में केवल 24 विकेट गिरे और अंतत: मैच ड्रॉ समाप्त हुआ था।


ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड दोनों ही टीमों ने इस पिच की आलोचना की थी, जहां मेजबान टीम ने पहली पारी में 327 रन बनाए और दूसरी पारी में चार विकेट पर 263 रन बनाकर पारी घोषित कर दी थी जबकि इंग्लैंड ने अपनी एकमात्र पारी में 491 रन बनाए लेकिन फिर भी वह जीत नहीं सकी और मैच ड्रॉ समाप्त हो गया।

मैच रेफरी रंजन मदुगाले ने अपनी रिपोर्ट में आईसीसी को पिच का विवरण दिया है। उन्होंने कहा कि एमसीजी पिच पर उछाल बहुत कम था और यह धीमी पिच मैच के साथ और धीमी होती चली गई। पांच दिनों के मैच में भी पिच की हरकत में कोई बदलाव आया ही नहीं और इस पर स्वभाविक रूप से भी कोई बदलाव नहीं दिखा।

मैच अधिकारियों ने भी एमसीजी की पिच को लेकर चिंता जताई थी। मदुगाले ने कहा कि इस पिच पर गेंद और बल्ले से बराबरी का खेल दिखाई नहीं दिया। न तो इसने बल्लेबाज़ों को खास मदद की और न ही गेंदबाजों को विकेट के मौके दिए। आईसीसी ने कहा कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के पास अब आईसीसी की इस रिपोर्ट पर जवाब देने के लिए दो सप्ताह का समय है।

सीए के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया बोर्ड भविष्य में ऐसी स्थिति दोबारा पैदा नहीं होने देगा और ग्राउंड स्टाफ से इस बारे में चर्चा की जाएगी। सदरलैंड ने कहा कि हम सभी के लिए यह रेटिंग काफी निराशाजनक है। हम सभी मैच आयोजन स्थलों पर अच्छे अंतरराष्ट्रीय मैच कराने के लिए मिलकर काम करते हैं।

हम आईसीसी की सलाह को जरूर मानेंगे और विशेषज्ञों और खिलाड़ियों के साथ मिलकर मेलबोर्न क्रिकेट क्लब के साथ काम करेंगे ताकि ऐसा दोबारा न हो। आईसीसी द्वारा समीक्षा किया गया एमसीजी टेस्ट आखिरी था। नई प्रक्रिया के हिसाब से यदि कोई मैदान खराब रेटिंग पाता है तो उसे नकारात्मक अंक दिए जाते हैं जो अगले पांच वर्षों के लिए प्रभावी होंगे।

आईसीसी ने बताया कि एक नकारात्मक अंक किसी स्थान को तब दिया जाता है जब मैच रेफरी उसे औसत से निचला आंकता है जबकि तीन से पांच नकारात्मक अंक उन स्थलों को दिए जाते हैं जिनकी पिचों को बेहद खराब या अनफिट करार दिया जाता है।

किसी स्थल को यदि पांच अंक मिलते हैं तो वह अगले 12 वर्ष तक कोई अंतरराष्ट्रीय मैच आयोजन नहीं कर सकता है और यदि यह अंक बढ़कर 24 हो जाते हैं तो उस स्थल पर 24 महीने के समय तक कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं कराया जा सकता है। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच पांचवां और आखिरी एशेज़ टेस्ट अब गुरुवार से सिडनी में होगा। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :