आईपीएल पर पैसों की बरसात, ब्रांड वैल्यू बढ़कर 6.3 अरब डॉलर

Last Updated: बुधवार, 8 अगस्त 2018 (21:38 IST)
मुंबई। दुनिया की सबसे मशहूर और महंगी क्रिकेट लीग की ब्रांड वैल्यू में खासी बढ़ोतरी हुई है और इस समय आईपीएल 6.3 अरब डॉलर का ब्रांड बन गया है। वैश्विक सलाहकार कंपनी डैफ एंड फेल्प्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को लेकर अपनी रिपोर्ट जारी की है, जिसमें आईपीएल पिछले साल के 5.3 अरब डॉलर के मुकाबले बढ़कर 6.3 अरब डॉलर पहुंच गया है। इससे साबित होता है कि यह क्रिकेट लीग दुनिया में कितनी मशहूर हो चुकी है और इसमें कितनी बेशुमार दौलत है।
तीन बार आईपीएल चैंपियन रही की ब्रांड वैल्यू में 7 फीसदी का इजाफा हुआ है और अब यह 10.3 करोड़ डॉलर से बढ़कर 11.3 करोड़ डॉलर पहुंच चुकी है। मुंबई टीम ने लगातार तीसरे वर्ष इस चार्ट में शीर्ष स्थान हासिल किया है। मुंबई के बाद बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान की का नंबर आता है जिसकी ब्रांड वैल्यू 5 फीसदी बढ़कर 9.9 करोड़ डॉलर से 10.4 करोड़ डॉलर पहुंच गई है।

भारतीय कप्तान विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की ब्रांड वैल्यू में 11 फीसदी का उछाल आया है और अब यह 8.8 करोड़ डॉलर से बढ़कर 9.8 करोड़ डॉलर पहुंच गई है। दो साल आईपीएल से बाहर रहने के बाद 2018 में खिताब जीतने वाली महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स की ब्रांड वैल्यू 9.8 करोड़ डॉलर है।

सनराइजर्स हैदराबाद की टीम 25 फीसदी उछाल के साथ 5.6 करोड़ डॉलर से 7 करोड़ डॉलर की ब्रांड वैल्यू पर पहुंच गई है। दिल्ली डेयरडेविल्स टीम की ब्रांड वैल्यू 4.4 करोड़ डॉलर से बढ़कर 5.2 करोड़ डॉलर पहुंच गई है। प्रीति जिंटा की किंग्स इलेवन पंजाब की ब्रांड वैल्यू में 27 फीसदी की वृद्धि हुई है और यह 4.1 करोड़ डॉलर से 5.2 करोड़ डॉलर पहुंच गई है।

चेन्नई की तरह दो साल बाद आईपीएल में वापसी करने वाली राजस्थान रॉयल्स टीम की ब्रांड वैल्यू 4.3 करोड़ डॉलर है। चेन्नई और राजस्थान की ब्रांड वैल्यू पर दो साल के निलंबन का असर पड़ा था लेकिन जिस तरह धोनी की टीम ने आईपीएल-11 सत्र में प्रदर्शन किया और तीसरी बार खिताब जीता उससे टीम की छवि में काफी सुधार आया है।

डफ एंड फेल्प्स के प्रबंध निदेशक वरुण गुप्ता ने कहा, 'स्टार इंडिया के पास आईपीएल के प्रसारण अधिकार रहने से आईपीएल की वैल्यू में इजाफा हुआ है और यह प्रति मैच फीस आधार पर दुनिया की सबसे बड़ी लीग की बराबरी पर आ गई है।' आईपीएल-11 का इस बार इंग्लिश के साथ साथ आठ अन्य भाषाओं में प्रसारण हुआ, जिसने इस लीग को और वैश्विक बना दिया है।


और भी पढ़ें :