इंग्लैंड ने 4-1 से टेस्ट सीरीज जीतकर कुक को दी विदाई, एंडरसन बने सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज

Last Updated: बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (01:21 IST)
ओवल। इंग्लैंड ने भारत को में 118 रनों से हराकर पांच टेस्ट मैचों की सीरीज 4-1 से जीत ली। आदिल रशीद ने नई गेंद से भारत के दो कीमती विकेट केएल राहुल (149) और (114) को पैवेलियन भेजकर मैच के सारे सूत्र मेजबान टीम के हाथों में सौंप दिए थे। जेम्स एंडरसन ने तीन विकेट लिए और इसी के साथ वे दुनिया सबसे ज्यादा विकेट (564) लेने वाले तेज गेंदबाज बन गए हैं। उन्होंने ग्लेन मैग्राथ (563 विकेट) को पीछे छोड़ा।

भारतीय पारी 345 रनों पर धराशायी : पांचवें टेस्ट मैच में भारत की दूसरी पारी 94.3 ओवर में 345 रनों पर धराशायी हो गई। जिमी एंडरसन ने अपने टेस्ट करियर का 564वां विकेट मोहम्मद शमी को बोल्ड करके हासिल किया। भारत के लिए यही काफी है कि वह हारा जरूर लेकिन शर्मनाक हार से बच गया क्योंकि 2 रन पर तीन विकेट गिर चुके थे ऐसे में राहुल और ऋषभ ने जड़ डाले। इस मैच की समाप्ति के साथ ही एलेस्टेयर कुक ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया।
मोईन ने भारत के दो शतकवीरों के किए शिकार : भारत ने सातवां विकेट केएल राहुल (149) का गंवाया, जो आदिल रशीद की गेंद पर बोल्ड हो गए। राहुल और पंत के बीच सातवें विकेट के लिए 149 रनों की भागीदारी निभाई गई। भारत इस झटके से उबरा भी नहीं था कि आदिल की गेंद पर ऋषभ पंत (114) का आसान कैच सीमा रेखा पर मोईन अली ने लपक लिया। भारत 328 रनों के कुल स्कोर पर 7 विकेट गंवा चुका था।
सुबह 46 रन से अपनी पारी आगे बढ़ाने वाले राहुल ने शुरू से ही सकारात्मक अंदाज में बल्लेबाजी की और बिना किसी दबाव के अपने शॉट खेले। पंत ने शुरू में सतर्कता बरतने के बाद अपने नैसर्गिक अंदाज में बल्लेबाजी की। भारत के दोनों बल्लेबाजों ने स्पिनरों के सामने सहजता से रन बटोरे। इससे भारत की रन गति भी तेज हुई।

राहुल ने लंच से पहले ही 118 गेंदों पर अपना शतक पूरा कर दिया था। उनका यह पिछले दो वर्षों में पहला और कुल पांचवां शतक है। लगातार नौ पारियों में नाकाम रहने के बाद पहली बार उन्होंने 50 से अधिक रन बनाए।

वह इंग्लैंड में चौथी पारी में शतक बनाने वाले दूसरे भारतीय सलामी बल्लेबाज हैं। सुनील गावस्कर ने इसी मैदान (ओवल) पर 1979 में 221 रन बनाए थे। राहुल ने हालांकि शतक का खास जश्न नहीं मनाया तथा अपने हेलमेट को चूमने के अलावा ड्रेसिंग रूम में अपने साथी खिलाड़ियों का अभिवादन स्वीकार किया।
ने दिसम्बर 2016 के बाद करियर का दूसरा शतक लगाया है। तब उन्होंने चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच में 199 रनों की पारी खेली है। राहुल के बल्ले से 28 पारियों के बाद शतक निकला है।
पंत ने अपने आदिल राशिद की गेंद पर गगनदाई छक्का जड़कर अपने सदाबहार अंदाज में सैकड़ा पूरा किया। उन्होंने इसके लिए 117 गेंदें खेली तथा 14 चौके और तीन छक्के लगाए। वह इंग्लैंड की सरजमीं पर शतक जड़ने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर हैं। इससे पहले इंग्लैंड में भारतीय विकेटकीपर का सर्वोच्च स्कोर 92 रन था, जो महेंद्र सिंह धोनी ने 2007 में ओवल में बनाया था। पंत और उनके साथियों ने भी इस उपलब्धि का खुलकर जश्न मनाया।

जब राहुल और पंत खेल रहे थे तो इस बीच बादल भी छाए रहे लेकिन जो रूट ने अपने मुख्य गेंदबाजों जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्राड को लंबे समय तक गेंद नहीं थमाई। रूट खुद गेंदबाजी के लिए आए लेकिन इससे कोई अंतर पैदा नहीं हुआ। पंत ने जब स्टोक्स के एक ओवर में तीन चौके लगाए तो गेंदबाज की हताशा साफ नजर आ रही थी।

राहुल और पंत ने भारत की तरफ से चौथे विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकार्ड भी बनाया। इससे पहले का रिकार्ड सचिन तेंदुलकर और नयन मोंगिया के नाम पर था जिन्होंने 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ चेन्नई में 136 रन जोड़े थे। यही नहीं यह भारतीय क्रिकेट में केवल चौथा अवसर है जबकि दो बल्लेबाजों ने चौथी पारी में शतक लगाए। पंत छक्के से अपना पहला टेस्ट शतक पूरा करने वाले चौथे भारतीय भी बने।

भारत ने पहले सत्र में दो विकेट गंवाए। रहाणे ने मोईन अली पर पैडल स्वीप करने के प्रयास में अपना विकेट गंवाया जबकि पहली पारी में अर्धशतक जड़ने वाले हनुमा विहारी खाता भी नहीं खोल पाए। स्टोक्स की गेंद उनके बल्ले को चूमकर विकेटकीपर जॉनी बेयरेस्टो के दस्तानों में समा गई।


और भी पढ़ें :