इंग्लैंड ने गेंद से छेड़छाड़ के आरोपों को किया खारिज

पुनः संशोधित शुक्रवार, 29 दिसंबर 2017 (21:37 IST)
मेलबर्न। इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस ने शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट के चौथे दिन का खेल समाप्त होने के बाद गेंद से छेड़छाड़ के आरोपों को खारिज किया। बारिश के कारण चौथे दिन के आधे समय का खेल खराब हो गया, जिससे अंतिम दिन इसकी भरपाई की जाएगी।
इंग्लैंड के कोच बेलिस ने कहा, जब भी थोड़ी बारिश होती है तो आप खेल में शीर्ष पर पहुंच जाते हो। जो थोड़ा निराशाजनक है, लेकिन हमारे पास कल जीतने का मौका होगा और हमें इसी जज्बे को आगे ले जाना होगा।

उन्होंने कहा, हमने पहली पारी में दिखा दिया कि हम काफी तेजी से विकेट ले सकते हैं। बेलिस ने फुटेज में दिखे गेंद से छेड़छाड़ के आरोपों को खारिज किया जिसमें इंग्लैंड के गेंदबाज जेम्स एंडरसन अंगूठे से गेंद पर कुछ कर रहे थे, जिससे यह संदेह गया।
पूर्व टेस्ट स्पिनर शेन वार्न ने चैनल नाइन टीवी कवरेज में कहा, मैं निश्चित नहीं हूं कि आपको वहां अपनी अंगुलियों के नाखून का इस्तेमाल करने की अनुमति है। साथी पूर्व टेस्ट स्टार माइकल स्लेटर ने कहा, यह दिलचस्प है, आप गेंद पर अपने नाखून का इस्तेमाल नहीं कर सकते। यह बिलकुल नहीं हो सकता। एंडरसन, कप्तान जो रूट और साथी तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राड अंपायर सुंदराम रवि और कुमार धर्मसेना के साथ चर्चा कर रहे थे।
लेकिन बेलिस ने कहा कि अंपायर ने बाद में कहा कि तिल का ताड़ बनाया गया है। उन्होंने कहा, यह आरोप है। जैसे ही मैंने सुर्खिंया देखीं, मैं तुरंत अंपायरों के पास गया और उनके शब्द ये थे, इसके बारे में चिंता की कोई जरूरत नहीं है, यह आरोप थे, इसमें कोई परेशानी नहीं है।

बेलिस ने कहा, अंपायरों ने मैच के दौरान गेंद ‘रफ’ क्षेत्र में फेंकने के बारे में दोनों कप्तानों से बात की। उन्होंने कहा, दुनिया की प्रत्‍येक टीम ऐसा करती है और निश्चित रूप से अंपायर इसे बढ़ाचढ़ाकर पेश नहीं करना चाहते थे और दोनों टीमों से इस पर बात की गई।
बेलिस ने कहा, मैंने भी फुटेज देखी है और अगर वे (एंडरसन) इसे तब खुरचने का प्रयास कर रहे थे तो वे गलत (चमकदार) हिस्से को खुरच रहे था ताकि यह रिवर्स जाए। मुझे पूरा भरोसा है कि यह ऐसा मामला नहीं था। मैच रैफरी रंजन मदुगले ने दिन का खेल समाप्त होने के बाद कहा कि आरोपों पर कोई रिपोर्ट नहीं होगी। (भाषा)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :