100 गुना बढ़ जाएगी स्मार्टफोन बैटरी की लाइफ, भारतीय मूल के वैज्ञानिक ने बनाया उपकरण

वाशिंगटन| पुनः संशोधित गुरुवार, 17 मई 2018 (22:43 IST)
वाशिंगटन। भारतीय मूल के वैज्ञानिकों ने एक ऐसा अनूठा उपकरण बनाया है जो स्मार्टफोन और जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की बैटरी की लाइफ 100 गुणा से ज्यादा बढ़ा देगा। अमेरिका में मिसौरी विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक चुंबकीय सामग्री विकसित की जो षडकोणीय ‘हनीकॉम्ब’ जैसी संरचना बनाती है। इसमें इलेक्ट्रॉनिक गुण होते हैं।

मिसौरी विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर दीपक के सिंह ने बताया कि सेमीकंडक्टर डायोड और एम्प्लीफायर्स अक्सर सिलिकॉन या जर्मेनियम से बनाए जाते हैं। ये सेमीकंडक्टर डायोड और एम्प्लीफायर्स आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के मुख्य तत्व हैं।

उनकी टीम ने सिलिकॉन की सतह पर हनीकॉम्ब के ऊपर चुंबकीय मिश्रण के जमाव से दो फलक वाला एक उपकरण विकसित किया। यह नई सामग्री एक ही दिशा में करंट संचारित करती है। चुंबकीय डायोड नए मैग्नेटिक ट्रांजिस्टरों और एम्प्लीफायरों के लिए रास्ता बनाते हैं। इस कार्य में बहुत ही कम बिजली खर्च होती है जिससे ऊर्जा स्रोत की दक्षता बढ़ती है। इसका मतलब यह है कि डिजाइनर बैटरी के जीवनकाल में 100 गुणा से अधिक वृद्धि कर सकते हैं। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :