मनीष पांडे बना रहे हैं आईपीएल में 5 लाख रुपए का एक रन

Last Updated: सोमवार, 14 मई 2018 (20:21 IST)
आईपीएल के 11वें सीजन में क्वालीफाई कर चुकी है। हैदराबाद शुरू से ही शानदार प्रदर्शन करती आई है। इस टीम के बहुत से खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया है। लेकिन इस टीम के एक खिलाड़ी मनीष पांडे ने अपने प्रदर्शन से अब तक सबको निराश ही किया है। मनीष पांडे ने इस सीजन के सभी मैच खेले है, लेकिन किंग्स इलेवन पंजाब के अलावा वे किसी भी टीम के खिलाफ औसत प्रदर्शन नही कर पाए है। पंजाब के खिलाफ खेले गए दोनों मैच में पांडे ने अर्द्धशतक लगाए हैं।

इस सीजन के तीसरे सबसे महंगे खिलाड़ी मनीष पांडे यूं तो विस्फोटक बल्लेबाज हैं, मगर इस बार उनका बल्ला नहीं चल पा रहा है। पिछले सीजन में मनीष पांडे ने कोलकाता के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया था। उनके प्रदर्शन की वजह से ही इस बार सनराइजर्स हैदराबाद ने मनीष पांडे पर 11 करोड़ का दांव लगाया था। टीम को उम्मीद थी कि पांडे मिडिल ऑर्डर में तेजतर्रार पारियां खे‍लेंगे लेकिन अब तक ऐसा हो नहीं पाया है। मनीष पांडे एक अदद अच्छी पारी को तरसते नजर आ रहे हैं।

मनीष पांडे ने इस आईपीएल में 12 मैचों में 111 के स्ट्राइक रेट से 189 रन बनाए हैं, जो दूसरे बल्लेबाजों से काफी खराब है। मनीष पांडे पर लगी बोली और उनके द्वारा बनाए गए रनों का हिसाब निकाला जाए तो अब तक पांडे द्वारा बनाया गया 1 रन हैदराबाद को 5 लाख रुपए का पड़ा है। जानिए कैसे?

मनीष पांडे को हैदराबाद ने 11 करोड़ रुपए में खरीदा है। प्लेऑफ तक टीम को 14 मैच खेलना है, मतलब मनीष पांडे को 14 मैचों के लिए प्रतिमैच लगभग 78.8 लाख रुपए मिलेंगे। मनीष पांडे इस सीजन में अब तक 12 मैच खेल चुके हैं और यह 12 मैच खेलकर 9.45 करोड़ रुपए कमा चुके हैं। पर अब तक कोई खास प्रदर्शन नही कर पाए है।

सनराइजर्स हैदराबाद द्वारा मनीष पांडे को अब तक दिए 9.45 करोड़ रुपए का हिसाब लगाकर देखा जाए तो पांडे द्वारा अब तक बनाए 189 रनों में से हर एक रन हैदराबाद को 5 लाख रुपए का पड़ा है। अगर पांडे आगे भी ऐसा ही खेलते रहे तो हैदराबाद के लिए इनके रन और महंगे पड़ेंगे।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

Cricket Update