Widgets Magazine

जाधव को फांसी के खिलाफ है पाकिस्तान का यह पूर्व राजदूत...

वाशिंगटन| पुनः संशोधित शुक्रवार, 21 अप्रैल 2017 (11:28 IST)
वाशिंगटन। अमेरिका में पाकिस्‍तान के पूर्व राजदूत हुसैन हक्‍कानी ने पूर्व नेवी ऑफिसर को फांसी की सजा सुनाने के लिए पाकिस्‍तान की आलोचना की है।
 
वॉल स्‍ट्रीट जर्नल में लिखे अपने एक आलेख में हुसैन ने कहा है कि यह मामला इंडिया-पाकिस्‍तान के बीच शांतिपूर्ण संबंधों में तनाव पैदा कर रहा है। हक्‍कानी ने कहा कि इस मामले को ज्‍यादा समझने की जरूरत  है और इस पर खुले तौर पर ट्रायल होना चाहिए।
 
साउथ सेंट्रल एशिया के अमेरिकन थिंक टैंक 'हड्सन इंस्‍टीट्यूट' के डायरेक्‍टर हक्‍कानी ने कहा कि  जाधव को फांसी की सजा दोनों देशों के बीच बातचीत की प्रक्रिया को नुकसान पहुंचा सकती है।
 
हक्‍कानी के मुताबिक हिंदू धार्मिक उफान के बीच भारत में गौ सुरक्षा जैसे मुद्दों में पाकिस्‍तान का  'जासूसी खेल' दक्षिण एशिया में दोनों देशों में शांतिपूर्ण संबंधों की प्रक्रिया को गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है। बेहतर होगा कि दोनों देश शांतिपूर्ण तरीके से कोई रास्ता निकालें।
 
पाकिस्तानी राजनयिक ने यह भी आरोप लगाया कि इस्लामाबाद अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए आतंकवादी समूहों का उपयोग करने की नीति को बदलता नहीं दिखाई दे रहा है और भारत-पाक संबंधों को खराब करने की सबसे बड़ी वजह भी यही है।  
 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine