नवाबों के शहर लखनऊ का रॉयल स्वाद

मुस्कुराइए आप नवाबी स्वाद की नगरी लखनऊ में हैं..

Author खुशबू जैसानी| Last Updated: गुरुवार, 11 जनवरी 2018 (15:34 IST)
नवाबों के शहर में मशहूर हेरिटेज घूमने के साथ लोग वहां के स्वाद के भी दीवाने है। लखनऊ के ट्रेडिशनल फूड को
नवाबों के समय से ही काफी पसंद किया जा रहा है। यहां के स्वाद में ही रॉयल फील आता है। उस समय के रॉयल शेफ और बावर्चियों को खासतौर पर ट्रेनिंग दी जाती थी कि किस तरह वह खाने में नवाबी स्वाद ला सकते है। जब भी लोग लखनऊ जाते है तो उनका मन वहां की शालीनता के साथ महंगे ज़ायकों का आनंद लेने को भी उतारू रहता है।

लखनऊ का खाना मन खुश कर देता है और खासकर अगर आप नॉन वेजीटेरियन हैं तो बात ही अलग है। नवाबी स्वाद के इस खज़ाने में गलावटी कबाब, टुंडे कबाब, लखनवी बिरयानी, पाया निहारी, टोकरी चाट, रोगन जोश, शीरमाल, कुलचा, वर्की पराठा, कोरमा, कालिया और भी कई लज़ीज़ व्यंजन शामिल हैं। लखनऊ में ज़्यादातर डिश "दम स्टाइल" के साथ धीमी आंच पर पकाए जाते हैं। साथ ही लखनवी डिश में अलग-अलग प्रकार के मसालों का बेहतरीन तरीके से तालमेल बैठाया जाता है।

खुशबूदार मसाले जैसे केसर, लाल मिर्च, इलायची, दालचीनी का डिश में मेलजोल लखनवी व्यंजनों को यूनिक बना देता है। लखनवी ज़ायका सिर्फ मिर्च मसालों के कारण ही सवादिष्ट नहीं बनते, बल्कि इन्हे बनाने का कुछ अलग सा नवाबी अंदाज़ और पेश करने का तरीका भी अहम भूमिका निभाते हैं। लखनऊ में शेफ के हाथो में जादू तो है ही और इससे भी हटकर उनकी काफी सालों की मेहनत व्यंजनों में स्वाद का रस घोल देती है। लखनवी पकवानों की ये कला आज की बात नहीं, बल्कि स्वाद का ये सिलसिला काफी पुरानी पीढ़ियों से चला आ रहा है।
अगर आज के नए शेफ की बात करें तो वे अपनी पुरानी लखनवी तरकीब को ज़िंदा रखते हुए कई नई डिश लेकर आ रहे हैं। कोई कितने भी बड़े रेस्त्रां में चले जाए लेकिन भारतीय लोगों को असली मज़ा तो स्ट्रीट फूड खाने में ही आता है। लखनवी चाट के मामले में तो भारत पहले नंबर पर आता है।लखनऊ के विभिन्न प्रकार के स्वादिष्ट कबाब तो वाकई काबिले तारीफ हैं। मेनकोर्स से पहले नवाबो वाले अंदाज़ का लुफ्त इन कबाब को खाकर उठाया जा सकता है।

यहां पर मीट को अनोखे मसालों के मिश्रण में मैरीनेट करके ग्रिल पर पकाया जाता है। इसके अलावा बारबेक्यू ग्रिल या फिर तंदूर में भी इनको कुछ अलग अंदाज़ में तैयार किया जाता है। वेजीटेरिअन के लिए भी कई तरह के कबाब लखनऊ में प्रसिद्ध हैं। जैसे दालचा, कथल, ज़मिखंड के कबाब का बेमिसाल ज़ायका वेजीटेरियंस को खूब पसंद आता है। अगर आप भी लखनऊ जाने वाले हैं तो इन कबाब का लुफ्त उठाना बिलकुल ना भूले खासकर टुंडे कबाब को तो बिलकुल नहीं भूलना। मुस्कुराइए आप नवाबी स्वाद की नगरी लखनऊ में हैं...

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

दुर्घटनाएं अमावस्या और पूर्णिमा पर ही क्यों होती है? आइए ...

दुर्घटनाएं अमावस्या और पूर्णिमा पर ही क्यों होती है? आइए जानते हैं यह रहस्य-
पूर्णिमा के दिन मोहक दिखने वाला और अमावस्या पर रात में छुप जाने वाला चांद अनिष्टकारी होता ...

क्या आपका बच्चा भी अंगूठा चूसता है? तो हो जाएं सावधान, जान ...

क्या आपका बच्चा भी अंगूठा चूसता है? तो हो जाएं सावधान, जान लें नुकसान
शायद ऐसा कोई व्यक्ति नहीं होगा, जिसने किसी बच्चे को अंगूठा चूसते हुए कभी न देखा हो। अक्सर ...

यही है वह मौसम जब शरीर का बदलता है तापमान, रहें सावधान, ...

यही है वह मौसम जब शरीर का बदलता है तापमान, रहें सावधान, जानें वजह और बचाव के उपाय
मौसम आ गया है कि आपको चाहे जब लगेगा हल्का बुखार। तो क्या घबराने की कोई बात है? जी नहीं, ...

प्रेशर कुकर में नहीं कड़ाही में पकाएं खाना, जानिए क्यों...

प्रेशर कुकर में नहीं कड़ाही में पकाएं खाना, जानिए क्यों...
अगर आप से पूछा जाए कि प्रेशर कुकर में या कड़ाही खाना बनाना बेहतर है तो आप तुरंत प्रेशर ...

मलाईदार नारियल क्रश, सेहत के यह 8 फायदे पढ़कर रह जाएंगे दंग

मलाईदार नारियल क्रश, सेहत के यह 8 फायदे पढ़कर रह जाएंगे दंग
आजकल मार्केट में नारियल पानी से ज्यादा नारियल क्रश को पसंद किया जा रहा है। इसकी बड़ी वजह ...

खतरे में है भारत की सांस्कृतिक अखंडता और विरासत

खतरे में है भारत की सांस्कृतिक अखंडता और विरासत
भारत देश एक बहु-सांस्कृतिक परिदृश्य के साथ बना एक ऐसा राष्ट्र है जो दो महान नदी ...

'समग्र' के सलाहकार मंडल में शामिल हुए रूसेन कुमार

'समग्र' के सलाहकार मंडल में शामिल हुए रूसेन कुमार
स्वच्छता क्षेत्र के अग्रणी संगठन- समग्र सशक्तिकरण फाउंडेशन ने इंडिया सीएसआर नेटवर्क के ...

कितने सीजेरियन या सी-सेक्शन झेल सकती है एक मां?

कितने सीजेरियन या सी-सेक्शन झेल सकती है एक मां?
अब जमाना ऐसा है कि आप चाहकर भी सी-सेक्शन से बच नहीं पाते। कभी जटिल परिस्थितियां और कभी नई ...

जल्दी वजन कम करना है तो ये 5 फल खाना कर दें शुरू

जल्दी वजन कम करना है तो ये 5 फल खाना कर दें शुरू
क्या बढ़ा हुआ वजन आपकी भी समस्या बन चुका है? हर वक्त आपके मन में चलता रहता है कि कैसे इस ...

क्या आपको भी आ रही है लड़कों जैसी 'दाढ़ी-मूंछ', तो करें ये ...

क्या आपको भी आ रही है लड़कों जैसी 'दाढ़ी-मूंछ', तो करें ये उपाय
चेहरे पर कील-मुंहासे व दाग-धब्बे जितने खराब लगते हैं, उतने ही छोटे-छोटे बालों का चेहरे पर ...