लघु कहानी : आत्मबल

घर के कामकाज से निपटकर सुनीता थोड़ा आराम करने के लिए लेटी ही थी कि तभी उसके मोबाइल की घंटी बजी। सुनीता ने फोन उठाकर देखा तो उसकी सहेली रमा का फोन था।

रमा ने बताया- 'अगले सप्ताह साहित्यकारों का तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय आयोजन मुंबई में हो रहा है। अभी-अभी उसका आमंत्रण आया है। लिस्ट में तेरा भी नाम है। आने-जाने का सारा खर्च संस्था ही उठाएगी और मानदेय भी देगी। मैं तो जा रही हूं। तू भी चलने की तैयारी कर ले। चलेगी न...?'

रमा की बात सुनकर सुनीता निराश हो गई। बुझे मन से बोली- 'अरे सुनीता, मैं भला कैसे जा सकती हूं? आज तक कभी स्थानीय आयोजनों के अलावा कहीं गई नहीं। एक-दो बार शहर से बाहर गई भी तो सुशील साथ ही गए थे। अब तीन दिन के लिए भला सुशील मेरे साथ कैसे जा सकते हैं? उन्हें छुट्टी ही नहीं मिलेगी। फिर घर कौन संभालेगा?'

'अरे यार रमा। तू भी कैसी बात करती है। मैं भी तो अकेली जा रही हूं। मुझे तो मेरे पति कभी मना नहीं करते। आने-जाने से ही संपर्क बनते हैं। जब इतना अच्छा लिखती हो तो अवसर का लाभ उठाना चाहिए। सफर में हम अकेले ही थोड़ी होंगे। यहां से और भी परिचित मित्र जा रहे हैं। सब मिलकर चलेंगे। चल... कल तक बता देना। मुझे स्वीकृति की लिस्ट भेजना है ताकि संस्था रिजर्वेशन करवा सके।' ये कहकर सुनीता ने फोन काट दिया।

इधर रमा अपने कमजोर के दुविधा में पड़ गई। वह इतना बड़ा अवसर खोना भी नहीं चाहती थी, पर करे तो क्या करे? सुशील तो साथ जा नहीं पाएंगे, फिर तीन दिन का आयोजन है। सुनीता साथ जरूर रहेगी, पर वह तो पुरुष-मित्रों से भी जरा में घुल-मिल जाती है। मुझे तो ये सब पसंद ही नहीं। सबके साथ रहकर भी मैं किसी से हंस-बोल नहीं पाऊंगी। सब मेरा मजाक उड़ाएंगे। शाम को सुशील को बताकर मना ही कर दूंगी कि कौन इस पचड़े में पड़े?

बिस्तर पर लेटे-लेटे रमा यही सब सोचकर हताश हो गई। वह जाना तो चाहती थी, पर उसमें इतना आत्मबल नहीं था कि वह सुशील को छोड़कर अकेली चली जाए।

शाम को सुशील के लौटने पर रमा ने जब सुनीता के फोन की जानकारी दी तो सुशील चहक उठा। उसने कहा- 'तुम्हें जरूर जाना चाहिए रमा। ऐसे अवसर बार-बार नहीं आते। मेरे नहीं चल पाने से क्या तुम अपनी प्रतिभा का गला घोंटोगी। सुनीता साथ है तो। रही पुरुष-मित्रों के साथ जाने की बात, तो उसमें हर्ज क्या है?

आज सब जगह स्त्री-पुरुष को बराबरी का स्थान मिलता है। तुम्हें अपने संकोची स्वभाव में परिवर्तन लाना होगा। यही संकोच तुम्हारा आत्मबल कमजोर करता है। इससे निकलना ही चाहिए। जब मुझे तुम पर भरोसा है, तो फिर चिंता किस बात की? हर जगह तो मैं साथ जा नहीं सकता। कब तक मेरे लिए रुकी रहोगी? अपने आत्मबल को जगाओ।हिम्मती बनो और सफर की तैयारी करो।'

सुशील ने आगे कहा- 'और हां... पुरुष-मित्र भी तब तक गलत आचरण नहीं करते, जब तक कि महिला कमजोर न पड़े। अपने दायरे में सबसे मिलो-जुलो। इसी से तुम्हारा मनोबल बढ़ेगा और तुम अपने लक्ष्य को पा सकोगी।'
सुशील की सकारात्मक बातों ने रमा को हिम्मत दी। उसे लगा जैसे उसमें नई ऊर्जा का संचार हुआ हो। वह मुस्कुराते हुए उठी और सुनीता का नंबर डॉयल करने लगी!

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

इन 7 बातों का रखेंगे ध्यान तो कैंसर से बचे रहेंगे आप

इन 7 बातों का रखेंगे ध्यान तो कैंसर से बचे रहेंगे आप
कैंसर कितनी खतरनाक बीमारी है इस पर जितना कहा जाए कम है। यह एक मरीज़ के शरीर, दिमाग और ...

इन 5 चीजों में भी होता है कैल्शियम, बढ़ती उम्र की परेशानी ...

इन 5 चीजों में भी होता है कैल्शियम, बढ़ती उम्र की परेशानी से बचें, इन्हें अपनाएं
आप यंग हैं तो आपको हड्डियों की समस्याओं का शायद सामना नहीं करना पड़ रहा है, लेकिन कहीं ...

ये 5 सब्जियां आपको बनाएंगी खूबसूरत और जवां

ये 5 सब्जियां आपको बनाएंगी खूबसूरत और जवां
खूबसूरत और जवां दिखना कौन नहीं चाहता! इसी चाहत में लोग अपनी अंदरुनी सेहत का तो ध्यान रखते ...

घर में बच्चों के साथ होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए ...

घर में बच्चों के साथ होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए उठाएं ये 14 कदम
बच्चे जब पांच साल से कम उम्र के होते हैं, तब वे घर में ही कई तरह की दुर्घटनाओं के शिकार ...

स्थानांतरण पर कविता : घर

स्थानांतरण पर कविता : घर
जिसे संवारा था तिनके-तिनके उजाड़ रही हूं अपने हाथों जानती हूं इतने बरसों का जमा बहुत कुछ ...

कैल्शियम : किसके लिए कितना होना चाहिए.... पढ़ें खास बातें

कैल्शियम :  किसके लिए कितना होना चाहिए.... पढ़ें खास बातें
कैल्शियम उचित मात्रा में खाने से हमारी बुद्धि प्रखर होती है और तर्क शक्ति भी बढ़ती है। दूध ...

चारोली के 4 चमत्कार, चेहरा चमकाएं हर बार...

चारोली के 4 चमत्कार, चेहरा चमकाएं हर बार...
चारोली को गुलाब जल के साथ पीस कर सप्ताह में दो बार लगाते रहें। इससे आपका चेहरा लगेगा ...

जब भी लगे कि डिप्रेशन में हैं तो किचन में जाएं और यह 5 ...

जब भी लगे कि डिप्रेशन में हैं तो किचन में जाएं और यह 5 चीजें खाएं....
हमारे किचन में कई ऐसी चीजें हैं, जिससे हम अपने डिप्रेशन को पलक झपकते दूर कर सकते हैं और ...

16 जुलाई 2018 से सूर्य कर्क राशि में, जानिए क्या उलटफेर ...

16 जुलाई 2018 से सूर्य कर्क राशि में, जानिए क्या उलटफेर होगा आपकी राशि में ...
16 जुलाई 2018 सोमवार को 22:42 बजे कर्क राशि में गोचर करने जा रहे हैं। सूर्यदेव के इस ...

शिवपुराण में मिला धन कमाने का पौराणिक रहस्य, बहुत आसान है ...

शिवपुराण में मिला धन कमाने का पौराणिक रहस्य, बहुत आसान है मनचाही दौल‍त पाना
यदि आप भी शिवजी की कृपा से धन संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाना चाहते हैं तो यहां बताया गया ...