लघुकथा : दोहरी जिम्मेदारी

सत्तर की उम्र पार कर रहे रमेश और उनकी पत्नी राधा अपनी बहू रमा की तारीफ करते नहीं अघाते। जब भी कभी उनसे मिलने कोई रिश्तेदार या पड़ोसी आए- रमा की तारीफों का टेप चालू हो जाता। आगंतुक भी रस ले-लेकर रमा की बड़ाई करते, साथ ही अपनी पढ़ी-लिखी बहुओं का रोना रोते।
रमेश उन्हें दिलासा देते और कहते- भाई जमाने के साथ चलना सीख लो। थोड़ी समझदारी रखो और अपने बच्चों को स्वतंत्र जिंदगी जीने का अवसर दो। बहू को बेटी सिर्फ कहो ही नहीं, उसे बेटी मानो भी। फिर देखो आपकी बहुएं भी रमा की ही तरह सेवा करेंगी। हां, स्वभाव तो अब हमको ही अपना बदलना होगा, सामंजस्य की पहल भी हमको ही करना होगी।

आज भी रमेश के एक मित्र सुधीर उनसे मिलने आए थे। आते ही बोले- भाई रमेश। कहां गई- रमा बिटिया। आज तो उसने मुझे कांजीबड़ा खाने के लिए बुलाया था। कहीं दिख नहीं रही। तभी राधा अंदर से- कांजीबड़ा और मिठाई लेकर आती हुई बोलीं- अरे, भाई साहब। रमा ने ऑफिस जाने के पहले ही बना लिए थे और कहकर गई है- अंकल को जी भर के खिलाना, मांजी। अंकल को बहुत पसंद हैं। सो, लीजिए- अपनी चहेती बिटिया के हाथ के कांजीबड़ा। रमा भी आती ही होगी- ऑफिस से।

अभी सब स्वादिष्ट व्यंजन का आनंद ले ही रहे थे कि तभी रमा भी आ गई। अंकल को चरण स्पर्श किया और बोली- पिताजी पहले आंखों में ड्रॉप डलवाइए। यह कहकर रमा ड्रॉपर उठा लाई। रमेश और उनके मित्र की आंखों में सजलता साफ दिख रही थी- रमा के कर्तव्यपालन से।

तभी राधा बोली- बेटा, पहले मुंह हाथ तो धो ले। आते ही सबकी फ़िक्र करने लगती है।

रमा ने ड्रॉपर डाला और मुस्कुराते हुए अपने कमरे में चली गई।

राधा बोली- देखा भाई साहब। कितना ध्यान रखती है सबका हमारी रमा बेटी। सुबह घर का सारा काम करके जाती है ऑफिस और आते ही फिर अपने कामों में लग जाती है। मुझे तो कुछ करने ही नहीं देती। कहती है- मां-पिताजी, आप सबकी जिम्मेदारी मेरी है। आपने भी तो मेरी खुशियों का ध्यान रखा। मुझे जॉब करने की अनुमति दी। सदा मुझ पर विश्वास किया। इस विश्वास और अपनी जिम्मेदारियों को भला कैसे छोड़ सकती हूं मैं?

हां, राधा बहन। सच में आपने और रमेश भाई ने अपनी समझ से बहू को बेटी बना लिया- कहते हुए रमेश के मित्र सुधीर ने उनसे विदा ली। जाते वक्त सुधीर के मन में भी एक संकल्प था- अपनी बहू को जॉब करने की अनुमति देने का। वे समझ गए थे- खुशी, खुशियां देकर ही मिलती है।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

बस,एक छोटा सा 'आभार' कम कर देगा जीवन के कई भार

बस,एक छोटा सा 'आभार' कम कर देगा जीवन के कई भार
आभार व्यक्त तो कीजिए। फिर देखिए, उसकी सुगंध कैसे आपके रिश्तों को अद्भुत स्नेह से सींचती ...

अपने लिए भी वक्त निकालें, यह वक्त का तकाजा है

अपने लिए भी वक्त निकालें, यह वक्त का तकाजा है
थोड़ा समय अपने शौक को देंगे तो आपको अपना आराम और मनोरंजन पूर्ण महसूस होगा।

जरा चेक करें कहीं आपकी कोहनी भी तो कालापन लिए हुए नहीं?

जरा चेक करें कहीं आपकी कोहनी भी तो कालापन लिए हुए नहीं?
भले ही आप चेहरे से कितनी ही खूबसूरत क्यों न हों, देखने वालों की नजर कुछ ही मिनटों में ...

5 मिनट में चमकती स्किन चाहिए तो इसे जरूर पढ़ें

5 मिनट में चमकती स्किन चाहिए तो इसे जरूर पढ़ें
जिस तरह बालों को सॉफ्ट और शाइनी बनाने के लिए आप हेयर कंडीशनिंग करते हैं, उसी तरह से त्वचा ...

पेट फूला-फूला रहता है तुंरत बदलिए लाइफ स्टाइल, पढ़ें 10 काम ...

पेट फूला-फूला रहता है तुंरत बदलिए लाइफ स्टाइल, पढ़ें 10 काम की बातें
लगातार बैठे रहने और कम मेहनत करने वालों का पेट बाहर आ जाता है लेकिन यह जरूरी नहीं है... ...

रोहिणी थीं चंद्र की प्रिय पत्नी, क्रोधित ससुर ने दिया शाप, ...

रोहिणी थीं चंद्र की प्रिय पत्नी, क्रोधित ससुर ने दिया शाप, शिव ने रखा शीश पर
चंद्र का विवाह दक्ष प्रजापति की 27 नक्षत्र कन्याओं के साथ संपन्न हुआ। चंद्र का रोहिणी पर ...

ऐसे हुआ सुंदर चमकीले चंद्रदेव का जन्म, पढ़ें पौराणिक कथा

ऐसे हुआ सुंदर चमकीले चंद्रदेव का जन्म, पढ़ें पौराणिक कथा
चंद्रमा के जन्म की कहानी पुराणों में अलग-अलग मिलती है। मत्स्य एवम अग्नि पुराण के अनुसार ...

मैक्सिको से सीखें हम नेताओं को सुधारने के गुर

मैक्सिको से सीखें हम नेताओं को सुधारने के गुर
मैक्सिको के चिचीकुइला शहर के महापौर अल्फांसो मोंटीएल ने अपने चुनावी प्रचार में शहर के ...

पूर्णिमा 29 मई को, क्या है इस दिन का धार्मिक और वैज्ञानिक ...

पूर्णिमा 29 मई को, क्या है इस दिन का धार्मिक और वैज्ञानिक रहस्य
जब पूर्णिमा आती है तो समुद्र में ज्वार-भाटा उत्पन्न होता है, क्योंकि चंद्रमा समुद्र के जल ...

उम्र को बढ़ने से रोकेगा यह ड्रायफ्रूट, इसके फायदे भी हैं ...

उम्र को बढ़ने से रोकेगा यह ड्रायफ्रूट, इसके फायदे भी हैं खूब, जानिए कैसे करें सेवन
आप मखाने के चार दानों का सेवन करके शुगर से हमेशा के लिए निजात पा सकते है। इसके सेवन से ...