कहानी : वह बर्बाद हो गई


किही शादी के बाद घर में पहली बार बिदा होकर आई है। सारी सखियां उसे घेर-घेरकर छेड़ रही हैं। किही एक अद्वितीय सुंदरी है और उसका पति भी कुछ कम नहीं। उसका पति काफी हष्ट-पुष्ट और छह फुट लंबा है। ऐसा लगता है जैसे वह कोई फोर्स का जवान हो। ताकत ऐसी कि एक-दो आदमी हाथ न लगे।
 
किही का पति तोले कहीं खड़ा हो जाता तो ऐसा लगता कि जैसे कोई बड़ा पैसे वाला बनिया हो। किही अधिक दिन मायके रुकना नहीं चाहती थी, कारण था उसके पति बाहर दूर के शहर में नौकरी करते थे इसलिए वह उन्हें अधिक अकेला छोड़ना नहीं चाहती थी। शायद तोले भी अपनी पत्नी से अधिक दिनों तक दूर नहीं रहना चाहता था।
 
दोनों ने फोन पर बात की और फिर तोले ससुराल आ गया किही को लेने के लिए। नई-नई शादी हुई और किही को मायके आए चार दिन भी न हुए थे। अब इससे अच्छा मौका क्या होता? सहेलियों को बहाना मिल गया, साथ में तोले से भी गप्पे हांक लेतीं।
 
सहेलियों को तोले से बात करते देख किही बड़े नखरीले अंदाज में व्यंग्य करती। इन्हीं में से किसी को लिए जाओ, हम तो अब न जाएंगे। तोले भी जोर से हंस देता। वातावरण खुशनुमा था। जीवन पूर्ण सुख से भरा था। अगले दिन किही ससुराल पहुंच गई। समय पलक झपकते बीत गया। आज ऐसा दिन आ गया, जब तोले को अपनी पत्नी से दूर कमाने के लिए जाना था।
 
 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :