हे बापू, तुम फिर आ जाते...

हे बापू, तुम फिर आ जाते,
कुछ कह जाते, कुछ सुन जाते।

साबरमती आज उदास है,
तेरा चरखा किसके पास है?
झूठ यहां सिरमौर बना है,
सत्य यहां आरक्त सना है।

राजनीति की कुटिल कुचालें,
जीवन को दूभर कर डाले।

अंदर पीड़ा बहुत गहन है,
मन को आकर तुम सहलाते।

हे बापू, तुम फिर आ जाते,
कुछ कह जाते, कुछ सुन जाते।

सर्वधर्म समभाव मिट रहा,
समरसता का भाव घट रहा।

दलितों का उद्धार कहां है,
जीवन का विस्तार कहां है?
जो सपने देखे थे तुमने,
उनको पल में तोड़ा सबने।

युवाओं से भरे देश में,
बेकारी कुछ कम कर जाते।

हे बापू, तुम फिर आ जाते,
कुछ कह जाते, कुछ सुन जाते।

स्वप्न तुम्हारे टूटे ऐसे,
बिखरे मोती लड़ियों जैसे।

सहमा-सिसका आज सबेरा,
मानस में है गहन अंधेरा।

भेदभाव की गहरी खाई,
जान का दुश्मन बना है भाई।
तिमिर घोर की अर्द्ध निशा में,
अंधकार में ज्योति जगाते।

हे बापू, तुम फिर आ जाते,
कुछ कह जाते, कुछ सुन जाते,

स्वतंत्रता तुमने दिलवाई,
अंग्रेजों से लड़ी लड़ाई।

लेकिन अब अंग्रेजी के बेटे,
संसद की सीटों पर लेटे।

इनसे हमको कौन बचाए,
रस्ता हमको कौन सुझाए।

जीवन के इस कठिन मोड़ पर,
पीड़ा को कुछ कम कर जाते।
हे बापू, तुम फिर आ जाते,
कुछ कह जाते, कुछ सुन जाते।

कमरों में है बंद अहिंसा,
धर्म के नाम पर छिड़ी है हिंसा।

त्याग-आस्था सड़क पड़े हैं,
ईमानों में पैबंद जड़े हैं।

वोटों पर आरक्षण भारी,
गुंडों को संरक्षण जारी।

देख देश की रोनी सूरत,
दो आंसू तुम भी ढलकाते।

हे बापू, तुम फिर आ जाते,
कुछ कह जाते, कुछ सुन जाते।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

अटल जी की कविता : जीवन की ढलने लगी सांझ

अटल जी की कविता : जीवन की ढलने लगी सांझ
जीवन की ढलने लगी सांझ उमर घट गई डगर कट गई जीवन की ढलने लगी सांझ।

अटल जी की लोकप्रिय कविता : मेरे प्रभु! मुझे इतनी ऊंचाई कभी ...

अटल जी की लोकप्रिय कविता : मेरे प्रभु! मुझे इतनी ऊंचाई कभी मत देना
मेरे प्रभु! मुझे इतनी ऊँचाई कभी मत देना गैरों को गले न लगा सकूँ इतनी रुखाई कभी मत ...

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी : बेदाग रहा राजनीतिक ...

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी : बेदाग रहा राजनीतिक पटल, बहुत याद आएंगे अटल
देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। वह ना केवल एक ...

शिक्षा और भाषा पर अटल बिहारी वाजपेयी के 6 विचार, बदल सकते ...

शिक्षा और भाषा पर अटल बिहारी वाजपेयी के 6 विचार, बदल सकते हैं सोच...
अटल बिहारी वाजपेयी ने शिक्षा, भाषा और साहित्य पर हमेशा जोर दिया। उनके अनुसार शिक्षा और ...

धर्म और परमात्मा के बारे में अटल बिहारी वाजपेयी ने कही थी ...

धर्म और परमात्मा के बारे में अटल बिहारी वाजपेयी ने कही थी यह 6 बातें -
धर्म के प्रति अटल बिहारी वाजपेयी की आस्था कम नहीं रही। देशभक्ति को भी उन्होंने अपना धर्म ...

राष्ट्रपति ने ज्योतिषियों से पूछकर प्रधानमंत्री को शपथ का ...

राष्ट्रपति ने ज्योतिषियों से पूछकर प्रधानमंत्री को शपथ का समय दिया
शंकरदयाल शर्मा एक ऐसी शख्सियत हैं, जो राजनीति में आए नहीं लाए गए थे। मध्यप्रदेश की ...

अंडरगारमेंट्स रखें सूखे और साफ, वरना हो सकती हैं ये गंभीर ...

अंडरगारमेंट्स रखें सूखे और साफ, वरना हो सकती हैं ये गंभीर सेहत समस्याएं
बरसात के दिनों में कपड़े आसानी से सूख नहीं पाते और कई बार ये थोड़े ठंडे भी होते हैं ...

चेहरे पर भद्दे ब्लैकहेड्स छीन लेते हैं आपकी खूबसूरती, ऐसे ...

चेहरे पर भद्दे ब्लैकहेड्स छीन लेते हैं आपकी खूबसूरती, ऐसे छुड़ाएं इनसे पीछा
चाहे आपका नैन-नक्श कितना ही लुभावना क्यों न हो, चाहे आपकी स्किन कितनी ही गोरी क्यों न हो ...

पर्यावरण मित्र फैसलों का स्वागत

पर्यावरण मित्र फैसलों का स्वागत
थर्मोकोल से बने डिस्पोजल प्लेट, गिलास और दोने के इस्तेमाल पर पाबंदी लगाने के हिमाचल सरकार ...

अटल जी पर कविता : हां! ये मेरा अटल विश्वास है...

अटल जी पर कविता : हां! ये मेरा अटल विश्वास है...
तुम्हारी देह और हमारे मन को जलाते अंगारों में हवा में घुल चुके तुम्हारे ही विचारों में ...