बहुमुखी प्रतिभा के धनी पं. चंद्रधर शर्मा 'गुलेरी' की जयंती

रोहित कुमार 'हैप्पी', न्यूज़ीलैंड
आज हिंदी साहित्य को 'उसने कहा था' जैसी कालजयी कहानी देने वाले पं. श्री चंद्रधर शर्मा 'गुलेरी' की जयंती है। गुलेरी की केवल तीन कहानियां ही प्रसिद्ध है जिनमें 'उसने कहा था' के अतिरिक्त 'सुखमय जीवन' व 'बुद्धू का कांटा' सम्मिलित हैं। गुलेरी के निबंध भी प्रसिद्ध हैं लेकिन गुलेरी ने कई लघु-कथाएं और कविताएं भी लिखी हैं जिससे अधिकतर पाठक अनभिज्ञ हैं।
 
पिछले कुछ दशकों में गुलेरी का अधिकतर साहित्य प्रकाश में आ चुका है लेकिन यह कहना गलत न होगा कि अभी भी उनकी बहुत-सी रचनाएं अप्राप्य हैं। यहां गुलेरी जी के पौत्र डॉ. विद्याधर गुलेरी, गुलेरी के एक अन्य संबंधी डॉ. पीयूष गुलेरी व डॉ. मनोहरलाल के शोध व अथक प्रयासों से शेष अधिकांश गुलेरी-साहित्य हमारे सामने है। 
 
जैनेन्द्र ने एक बार गुलेरी के विषय में कहा था, 'पं. चंद्रधर शर्मा गुलेरी विलक्षण विद्वान थे। उनकी प्रतिभा बहुमुखी थी। उनमें गज़ब की ज़िंदादिली थी और उनकी शैली भी अनोखी थी। गुलेरी जी न केवल विद्वत्ता में अपने समकालीन साहित्यकारों से ऊंचे ठहरते थे, अपितु एक दृष्टि से वह प्रेमचंद से भी ऊंचे हैं। प्रेमचंद ने समसामयिक स्थितियों का चित्रण तो बहुत बढ़िया किया है, पर व्यक्ति-मानस के चितेरे के रूप में गुलेरी का जोड़ नहीं है।' 
 
अगले पृष्ठ पर पढ़ें गुलेरी जी की लघु-कथाएं :-
 
 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

इन 7 बातों का रखेंगे ध्यान तो कैंसर से बचे रहेंगे आप

इन 7 बातों का रखेंगे ध्यान तो कैंसर से बचे रहेंगे आप
कैंसर कितनी खतरनाक बीमारी है इस पर जितना कहा जाए कम है। यह एक मरीज़ के शरीर, दिमाग और ...

इन 5 चीजों में भी होता है कैल्शियम, बढ़ती उम्र की परेशानी ...

इन 5 चीजों में भी होता है कैल्शियम, बढ़ती उम्र की परेशानी से बचें, इन्हें अपनाएं
आप यंग हैं तो आपको हड्डियों की समस्याओं का शायद सामना नहीं करना पड़ रहा है, लेकिन कहीं ...

ये 5 सब्जियां आपको बनाएंगी खूबसूरत और जवां

ये 5 सब्जियां आपको बनाएंगी खूबसूरत और जवां
खूबसूरत और जवां दिखना कौन नहीं चाहता! इसी चाहत में लोग अपनी अंदरुनी सेहत का तो ध्यान रखते ...

घर में बच्चों के साथ होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए ...

घर में बच्चों के साथ होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए उठाएं ये 14 कदम
बच्चे जब पांच साल से कम उम्र के होते हैं, तब वे घर में ही कई तरह की दुर्घटनाओं के शिकार ...

स्थानांतरण पर कविता : घर

स्थानांतरण पर कविता : घर
जिसे संवारा था तिनके-तिनके उजाड़ रही हूं अपने हाथों जानती हूं इतने बरसों का जमा बहुत कुछ ...

सिर की जुएं भगाना है? जैतून का तेल लगाएं...

सिर की जुएं भगाना है? जैतून का तेल लगाएं...
चाहे बाल बाहर से कितने ही मखमली, मुलायन क्यों न लगते हों, लेकिन यदि आपके सिर में किसी वजह ...

मां दुर्गा को सबसे प्रिय हैं ये 4 सरल मंत्र, चारों दिशाओं ...

मां दुर्गा को सबसे प्रिय हैं ये 4 सरल मंत्र, चारों दिशाओं से मिलेगी सफलता
मां दुर्गा के स्वरूपों का स्मरण करते हुए निम्न मंत्रों का जप नवरा‍त्रि के अलावा प्रतिदिन ...

देवशयनी एकादशी 2018 : 23 जुलाई से नहीं हो सकेंगे शुभ ...

देवशयनी एकादशी 2018 : 23 जुलाई से नहीं हो सकेंगे शुभ मांगलिक कार्य, जानिए महत्व भी...
आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की ग्यारहवीं (ग्यारस) तिथि को देवशयनी एकादशी मनाई जाती है। इस वर्ष ...

क्या आप जानते हैं कैसे करें दुर्गासप्तशती का पाठ, पढ़ें ...

क्या आप जानते हैं कैसे करें दुर्गासप्तशती का पाठ, पढ़ें प्रामाणिक विधि
नवरात्रि में दुर्गासप्तशती का पाठ करना अनन्त पुण्य फलदायक माना गया है। 'दुर्गासप्तशती' के ...

16 जुलाई से कर्क में सूर्य, जानिए किस राशि के लिए शुभ, ...

16 जुलाई से कर्क में सूर्य, जानिए किस राशि के लिए शुभ, किसके लिए अशुभ
सोमवार, 16 जुलाई 2018 को सूर्य 22.42 बजे कर्क राशि में गोचर भ्रमण करेगा और 17 अगस्त 2018 ...