पुस्तक समीक्षा : मरुधरा सूं निपज्या गीत


‘मरुधरा सूं निपज्या गीत’ विख्यात गीतकार इकराम राजस्थानी के रसीले राजस्थानी गीतों का नजराना है। राजस्थानी मिट्टी और संस्कृति से आत्मीय लगाव के चलते इन्होंने अपना उपनाम ही ‘राजस्थानी’ रख लिया है। इन्होंने स्वीकार भी किया है - 
 
‘राजस्थानी’ हो गयो, अब म्हारो उपनाम।
मैं मायड़ रो लाडलो, जग जोणे ‘इकराम’।।
 
‘मरुधरा सूं निपज्या गीत’ में संकलित गीत राजस्थानी भाषा की मिठास के साथ-साथ राजस्थान की मिट्टी-पानी-हवा की सोंधी गंध से भी सुवासित हैं। इन गीतों में राजस्थान की क्षेत्रीय विशेषताओं का आत्मीय चित्रण किया गया है और वैयक्तिक शैली में वहां की प्राकृतिक-भौतिक संपदा के बारे में लिखा गया है। जैसे एक गीत में राजस्थान की धरती को संबोधित करते हुए कहा गया है - 
 
थारी भूरी भूरी रेत,
थारे कण कण मांही हेत,
म्हारे काकना की लागे तू तो कोर माटी
म्हारे हिवड़ा मांही नाचे, मीठा मोर माटी।
 
‘मरुधरा सूं निपज्या गीत’ में कुछ ऐसे गीत भी हैं जो पुरुष और स्त्री के संवादों के रूप में रचे गए हैं। इनमें की जानी-पहचानी शैली का आभास मिलता है। में ‘गाथा पन्ना धाय री’ जैसे लंबे गीत भी हैं जो गायन के साथ-साथ मंचन की खूबियों से युक्त हैं। कुल मिलाकर इन रचनाओं में लक्षित की जाने वाली अन्यतम विशेषता है जातीयता का उभार और लोकगीत की प्रचलित शैली का पुनराविष्कार।
 
 
पुस्तक : मरुधरा सूं निपज्या गीत
लेखक : इकराम राजस्थानी  
प्रकाशक : वाणी प्रकाशन 
पृष्ठ संख्या : 142 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

मक्खन खाना शुरू कर दीजिए, यह 11 फायदे पढ़कर देखिए

मक्खन खाना शुरू कर दीजिए, यह 11 फायदे पढ़कर देखिए
मक्खन खाने के भी अपने ही कुछ फायदे हैं। अगर नहीं जानते, तो जरूर पढ़ि‍ए, और जानिए मक्खन से ...

आगे बढ़ना ही मनुष्य के जन्म की नियति है तो हम क्यों पीछे ...

आगे बढ़ना ही मनुष्य के जन्म की नियति है तो हम क्यों पीछे लौटें...
प्रकृति ने हमारे शरीर का ढांचा इस प्रकार बनाया है कि वह हमेशा आगे बढ़ने के लिए ही हमें ...

किसी और की शादी होती देख क्यों सताती है लड़कियों को अपनी ...

किसी और की शादी होती देख क्यों सताती है लड़कियों को अपनी शादी की चिंता
ज़िंदगी में एक ऐसा समय आता है जब आपको लगने लगता है कि आपके आसपास सभी की शादी हो रही है। ...

पैरेंट्स करें ऐसा व्यवहार, तो बच्चे सीख जाएंगे सच बोलना

पैरेंट्स करें ऐसा व्यवहार, तो बच्चे सीख जाएंगे सच बोलना
बच्चे बहुत नाज़ुक मन के होते हैं, बिलकुल गीली मिट्टी जैसे। उन्हें आप जो सीखाना चाहते वे ...

बस उस क्षण को जीत लेने की बात है, फिर जिंदगी खूबसूरत है

बस उस क्षण को जीत लेने की बात है, फिर जिंदगी खूबसूरत है
आत्महत्या। किसी के लिए हर मुश्किल से बचने का सबसे आसान रास्ता तो किसी के लिए मौत को चुनना ...

सोशल मीडिया पर छाए रहे दो महाराज

सोशल मीडिया पर छाए रहे दो महाराज
बीते सप्ताह सोशल मीडिया पर दो महाराज छाये रहे। इन्दौर में रहने वाले भय्यू महाराज ने गत ...

बारिश के मौसम में बचें कान के इन्फेक्शन से, पढ़ें जरूरी ...

बारिश के मौसम में बचें कान के इन्फेक्शन से, पढ़ें जरूरी सलाह (वीडियो)
संक्रमण के कारण ही बारिश में कान के रोग भी पनपते हैं, जो फैलने पर आपके लिए परेशानी खड़ी ...

धन का संकट दूर करना है तो आजमाएं अनमोल एवं कारगर उपाय ...

धन का संकट दूर करना है तो आजमाएं अनमोल एवं कारगर उपाय (पढ़ें अपनी राशिनुसार)
अगर आप अपने ईष्ट का स्मरण कर भक्ति भाव से पूजन और नियमितता से नीचे दिए गए उपाय आजमाते हैं ...

ईयर फोन बन रहा है मौत का कारण, पढ़ें 10 जरूरी बातें

ईयर फोन बन रहा है मौत का कारण, पढ़ें 10 जरूरी बातें
आए दिन रास्ते में आपको कान में ईयरफोन लगाए लोग मिल जाएंगे जिनकी वजह से प्रतिदिन हादसे हो ...

ज्योतिष के अनुसार चंद्र की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते ...

ज्योतिष के अनुसार चंद्र की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते होंगे...
भारतीय ज्योतिष में नौ ग्रह गिने जाते हैं, सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि, राहु ...