अच्छी होती है दोपहर की मीठी नींद... दिल की सेहत चाहते हैं तो एक झपकी ले ही लीजिए..

दिन के समय ऑफिस में कार्य करने के दौरान झपकी लेने वालों के लिए एक अच्छा बहाना हाथ लगा है- 'ऐसा करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है।' इसके समर्थन में वे एक अध्ययन का हवाला भी दे सकते हैं। इस अध्ययन के अनुसार दोपहर के भोजन के बाद आधे घंटे की झपकी से दिल की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

जी हां, यूनान में किए गए एक व्यापक अध्ययन के नतीजे यही साबित करते हैं कि दोपहर में झपकी लेना हृदय के लिए फायदेमंद है। यह अध्ययन 'आर्काइव्स ऑफ इंटरनल मेडिसिन' में प्रकाशित हुआ है। इसमें यूनान के 23,683 वयस्क लोगों पर औसतन छः साल तक परीक्षण किए गए। इसमें पाया गया कि सप्ताह में कम से कम तीन दिन आधे-आधे घंटे के लिए दोपहर की झपकी लेने वालों में हार्ट अटैक या हृदय रोग की आशंका अन्य व्यक्तियों की तुलना में 37 फीसदी कम होती है।

शोधकर्ताओं के अनुसार झपकी से तनाव कम करने में मदद मिलती है, जिससे हृदय को भी आराम मिलता है। गौरतलब है कि हार्ट अटैक की एक बड़ी वजह तनाव ही मानी जाती है।

हॉवर्ड विश्वविद्यालय और एथेंस विश्वविद्यालय मेडिकल स्कूल में अध्ययनकर्ता डॉ. डिमिट्रिस ट्रिचोपौलस कहते हैं कि दिन में झपकी लेना कई देशों, खासकर गर्म जलवायु वाले देशों के लोगों की आदत में शुमार रहा है। इन देशों में हृदय रोग कम देखने को मिलते हैं।

इससे भी यह अनुमान लगाया जा सकता है कि हृदय रोगों को कम करने में झपकी की भूमिका हो सकती है। वैसे वे यह भी कहते हैं कि यहां खान-पान की कुछ बेहतर आदतें भी इसकी एक बड़ी वजह हो सकती हैं।

झपकी लेने से वाकई दिल की बीमारियां कम होती हैं, इससे कुछ शोधकर्ता सहमत नहीं हैं। कोलंबिया सेंट मैरीज में विशेषज्ञ डॉ. मार्विन वूटन कहते हैं कि जिन लोगों को अध्ययन में शामिल किया गया था, हो सकता है वे पहले से ही सेहतमंद रहे हों और अपने स्वास्थ्य की बेहतर देखभाल करते हों। इसके अलावा वे एक और तथ्य की ओर इशारा करते हैं।
वे कहते हैं कि जो व्यक्ति दिन में झपकी नहीं ले पाता है, उसकी वजह उस पर काम का अत्यधिक बोझ और अन्य व्यावसायिक तनाव हो सकते हैं। इसलिए पहले से ही तनावग्रस्त व्यक्ति में हृदय रोगों की आशंका बढ़ती है, तो इसके लिए झपकी नहीं लेने की आदत को दोषी नहीं ठहराया जा सकता।

अमेरिका में कुछ कंपनियों ने तो अपने कर्मचारियों को दोपहर के भोजन के पश्चात कुछ समय के लिए आराम करने के लिए झपकी कक्ष भी बना रखे हैं। हल्के प्रकाशयुक्त इस कक्ष में कोई भी कर्मचारी कुछ समय के लिए झपकी ले सकता है।

ऐसी एक कंपनी के कर्मचारियों का कहना है कि इससे उनकी कार्यक्षमता में भी इजाफा हुआ है। हृदय रोग से ग्रस्त एक कर्मचारी एकेनबर्गर कहते हैं कि उन्हें डॉक्टरों ने दोपहर में आधे घंटे की झपकी लेने की सलाह दी थी। इस सलाह पर अमल करने के बाद उनमें तनाव कम हुआ है। इससे वे बड़ा रिलैक्स महसूस करने लगे हैं।


और भी पढ़ें :