गरबा के मजे भी लेना है और एनर्जी लेवल भी बनाए रखना है तो इसे पढ़ें


के दौरान शरीर में ऑक्सीजन अगर ठीक तरह से नहीं पहुंचे तो शरीर का ऊर्जा का स्तर आश्चर्यजनक रूप से कम हो जाता है। ऐसी स्थिति में आप गरबा के मजे नहीं ले सकेंगे।

इसका उपचार है- तीस सेकंड बैठकर गहरी सांस लें। तीन गिनने तक नाक से सांस लें और अंदर खींचे (कोशिश करें कि पेट तक सांस लें न कि केवल सीने तक) और छः गिनने तक धीरे-धीरे सांस छोड़ें।

थोड़ी-सी स्ट्रेचिंग भी आपका ऊर्जा स्तर ठीक बनाए रखने में बहुत ज्यादा मददगार साबित हो सकती है। इससे आपकी मांसपेशियां रिलेक्स होती हैं और रक्त का संचरण ज्यादा होता है जो आपको अतिरिक्त ऊर्जा भी देता है।

लेकिन हां, कसरत के साथ ज्यूस या फल लेना भी जरूरी है। कम से कम 10-12 गिलास पानी पिएं। इससे डिहायड्रेशन नहीं होता।

पानी में अगर आप नींबू का रस व शकर मिलाकर पी सकें तो ज्यादा बेहतर है, यह घोल आपको ज्यादा ऊर्जा भी देगा।

सदैव याद रखिए कि ईश्वर भक्त की भावनाओं के भूखे होते हैं उन्हें कोई दिखावा या किसी भी आडंबरों से कोई लेना-देना नहीं होता। अतः जिस व्रत और उपवास से हमारा शरीर स्वस्थ मन और आत्मा को सुकून मिले वही व्रत सार्थक है।



और भी पढ़ें :