ब्राह्मी : संक्रांति बाद 9 दिन सेवन करने से मिलेगा यह लाभ


चतुर्दशी से वसंत पंचमी तक सेवन करने से होगा यह चमत्कार
ब्राह्मी या ब्राम्ही यानि बुद्धि बढ़ाने के लिए आयुर्वेद के अनुसार सबसे उत्तम और चमत्कारिक औषधि है। वसंत पंचमी के 9 दिन पूर्व अगर इसका विधिवत सेवन किया जाए तो इसके अचूक चमत्कारिक परिणामों से वंचित नहीं रहा जा सकता। माघ मास की चतुर्दशी से वसंत पंचमी तक यानी 9 दिनों में ब्राम्ही का सेवन विशेष फलदायी माना गया है।

ब्राम्ही का आयुर्वेद के अनुसार अत्यंत महत्व है। ऐसा माना जाता है कि जिस प्रकार गर्भ में पलने वाला शिशु नौ महीनों में परिपक्त होता है और उसे जीवन प्राप्त होता है, उसी प्रकार चतुर्दशी से लेकर बसंत पंचमी के बीच नौ दिन की अवधि में ब्राम्ही परिपक्व होती है और अपने विशिष्ट गुणों के कारण बेहद असरदार हो जाती है। विद्या की देवी मां सरस्वती के जन्मदिन पर ही यह अपने सर्वोत्तम परिपक्व रूप को प्राप्त करती है। अत: इन 9 दिनों में ब्राम्ही के सेवन का विशेष तौर पर महत्व माना गया है। जानिए इसके अन्य फायदे और सावधानियां
-

1 इस समय ब्राम्ही का सेवन करने से विद्यार्थियों में बुद्धि बढ़ती है और उनका दिमाग तेज चलने लगता है। याददाश्त कमजोर होने पर इसका सेवन बेहद फायदेमंद है।

2
मानसिक समस्याओं, मानसिक बीमारियों के इलाज के तौर पर इसे प्रयोग करना बेहद लाभदायक है। दिमाग को ठंडा रखने के लिए भी इसका प्रयोग लाभप्रद है।

3 यह सफद दाग, पीलिया, खून की खराबी के लिए भी बेहद असरकार होती है और हृदय के लिए लाभदायक होने के साथ ही सूजन, पित्त, खांसी में भी फायदा पहुंचाती है।

4 नींद न आना, कब्जियत और धातु क्षय को रोकने में बेहद मददगार है।
एंटी ऑक्सीडेंट तत्वों से भरपूर ब्राम्ही पागलपन को भी ठीक करने में असरकारक औषधि है।


सावधानियां

1 ब्राम्ही के सेवन में कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना जरूरी है। इसमें खटाई का परहेज आवश्यक है और दिमागी थकान वाले कार्य नहीं करने चाहिए।
2
जड़ी बूटी युक्त ब्राम्ही पेय का प्रयोग 24 घंटे के अंदर करना ही श्रेयस्कर होता है। इसके बाद इसका सेवन करना नुकसानदायक भी हो सकता है।

नोट : इसके अत्यधि‍क या गलत सेवन से मानसिक समस्याएं भी हो सकती हैं, अत: किसी विशेषज्ञ की सलाह लेकर ही इसका सेवन करें ।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

हिन्दी कविता : देह हूं मैं ...

हिन्दी कविता : देह हूं मैं ...
देह हूं मैं प्राणों से भरी , अहसासों से भरी देह हूं मैं जब छूते हो मुझे मेरी ...

मन की अभिव्यक्ति से मिलती है खुशी

मन की अभिव्यक्ति से मिलती है खुशी
वर्षों बाद वो दोनों सखियां मिलीं। मन में भावनाओं का ज्वार। आंखें ख़ुशी के आंसुओं से सिक्त। ...

प्रेम गीत : मुझको दीवाना कह लो

प्रेम गीत : मुझको दीवाना कह लो
तुम्हे प्यार नहीं तो क्या मुझको दीवाना कह लो। उम्मीदे वफ़ा नहीं तो क्या, मुझको दीवाना कह ...

बचा जा सकता है थायराइड से, यहां जानिए कैसे

बचा जा सकता है थायराइड से, यहां जानिए कैसे
योग के जरिए भी थायराइड से बचा जा सकता है। खासकर कपालभाती करने से थायराइड की समस्या से ...

तंत्र की देवी है मां बगलामुखी, हर आपदा से बचाता है उनका ...

तंत्र की देवी है मां बगलामुखी, हर आपदा से बचाता है उनका मंत्र
मां बगलामुखी यंत्र चमत्कारी सफलता तथा सभी प्रकार की उन्नति के लिए सर्वश्रेष्ठ माना गया ...

हर तरफ है बस संकट ही संकट तो पढ़ें नृसिंह देव का यह अचूक ...

हर तरफ है बस संकट ही संकट तो पढ़ें नृसिंह देव का यह अचूक मंत्र
अगर आप कई संकटों से घिरे हुए हैं या संकटों का सामना कर रहे हैं, तो भगवान विष्णु या श्री ...

एच-4 वीजाधारकों के वर्क परमिट पर अमेरिका में बवाल

एच-4 वीजाधारकों के वर्क परमिट पर अमेरिका में बवाल
वॉशिंगटन। प्रभावशाली सांसदों और फेसबुक समेत अमेरिकी आईटी उद्योग के प्रतिनिधियों ने एच-4 ...

ज्योतिष के यह योग बनाते हैं चरित्रहीन, पढ़ें ज्योतिष ...

ज्योतिष के यह योग बनाते हैं चरित्रहीन, पढ़ें ज्योतिष विश्लेषण
वर्तमान समय में देश में दुष्कर्म की घटनाओं में वृद्धि हुई है। काम-क्रोध आदि षड्विकार सभी ...

25 अप्रैल : विश्व मलेरिया दिवस पर विशेष

25 अप्रैल : विश्व मलेरिया दिवस पर विशेष
विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार विश्व में तीसरी सबसे अधिक मलेरिया दर भारत में है। भारत ...

सेहत और सौंदर्य का साथी है विटामिन-ई, जानिए 10 लाभ

सेहत और सौंदर्य का साथी है विटामिन-ई, जानिए 10 लाभ
विटामिन-ई खासतौर पर सोयाबीन, जैतून, तिल के तेल, सूरजमुखी, पालक, ऐलोवेरा, शतावरी, ऐवोकेडो ...