श्री गणेश को चढ़ाएं 20 पत्र, साथ में बोलें यह 20 मंत्र


श्री गणेश को चढ़ने वाले हर पत्र का है एक विशेष मंत्र
के 10 दिन यदि उचित रीति से सही प्रकार की वनस्पति पूर्ण विधि-विधान से अर्पित की जाए तो भगवान गणेश प्रसन्न होकर शुभ आशीर्वाद प्रदान करते हैं। आइए जानते हैं श्रीगणेश के मनपसंद पत्तों और उसके मंत्रों का शास्त्रोक्त विधान।

1. को शमी पत्र चढ़ाकर 'सुमुखाय नम:' कहें।

इसके बाद क्रम से यह पत्ते चढ़ाएं और नाम मंत्र बोलें -
2. बिल्वपत्र चढ़ाते समय जपें 'उमापुत्राय नम:।'

3. दूर्वादल चढ़ाते समय जपें 'गजमुखाय नम:।'

4. बेर चढ़ाते समय जपें 'लम्बोदराय नम:।'

5. धतूरे का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'हरसूनवे नम:।'

6. सेम का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'वक्रतुण्डाय नम:।'
7. तेजपत्ता चढ़ाते समय जपें 'चतुर्होत्रे नम:।'

8. कनेर का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'विकटाय नम:।'

9. कदली या केले का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'हेमतुंडाय नम:।'

10. आक का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'विनायकाय नम:।'

11. अर्जुन का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'कपिलाय नम:।'

12. महुआ का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'भालचन्द्राय नम:।'

13. अगस्त्य वृक्ष का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'सर्वेश्वराय नम:।'

14. वनभंटा चढ़ाते समय जपें 'एकदन्ताय नम:।'

15. भंगरैया का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'गणाधीशाय नम:।'
16. अपामार्ग का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'गुहाग्रजाय नम:।'

17. देवदारु का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'वटवे नम:।'

18. गान्धारी वृक्ष का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'सुराग्रजाय नम:।'

19. सिंदूर वृक्ष का पत्ता चढ़ाते समय जपें 'हेरम्बाय नम:।'
20. केतकी पत्ता चढ़ाते समय जपें 'सिद्धिविनायकाय नम:।'

आखिर में दो दूर्वादल गंध, फूल और चावल गणेशजी को चढ़ाना चाहिए।



वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

इन तीन लोगों के सिर धड़ से अलग हो गए थे लेकिन जोड़ दिए गए, ...

इन तीन लोगों के सिर धड़ से अलग हो गए थे लेकिन जोड़ दिए गए, जानिए प्राचीन रहस्य
प्राचीन भारत में चिकित्सा और सर्जरी के कई किस्से पुराणों में पढ़ने को मिलते हैं। हालांकि ...

जब दुर्योधन ने अपनी पत्नी को देखा कर्ण के साथ...

जब दुर्योधन ने अपनी पत्नी को देखा कर्ण के साथ...
दुर्योधन की पत्नी का नाम भानुमति था। भानुमति के कारण ही यह मुहावरा बना है- कहीं की ईंट ...

ज्योतिष के अनुसार सूर्य की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते ...

ज्योतिष के अनुसार सूर्य की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते होंगे...
ज्योतिष के अनुसार ग्रह की परिभाषा अलग है। भारतीय ज्योतिष और पौराणिक कथाओं में नौ ग्रह ...

सावधान... 28 जून से मंगल होगा वक्री, क्या होगी 12 राशियों ...

सावधान... 28 जून से मंगल होगा वक्री, क्या होगी 12 राशियों की स्थिति
मंगल जब उच्च का होकर वक्री होता है, तो जहां उच्च का फल देता आया है, अब वहां नीच का फल ...

नागमणि के पास होने से क्या होता है? देखें चमत्कारिक नागमणि ...

नागमणि के पास होने से क्या होता है? देखें चमत्कारिक नागमणि का वीडियो
नागमणि का रहस्य आज भी अनसुलझा हुआ है। आम जनता में यह बात प्रचलित है कि कई लोगों ने ऐसे ...

लाल किताब में दिए हैं 12 राशि के अनोखे उपाय, पढ़ें क्या है ...

लाल किताब में दिए हैं 12 राशि के अनोखे उपाय, पढ़ें क्या है आपकी राशि का उपाय
किसी से कोई वस्तु मुफ्त में न लें। लाल रंग का रूमाल हमेशा प्रयोग करें।लाल किताब के ...

ऐसे लगाएं परमात्मा से योग

ऐसे लगाएं परमात्मा से योग
योग यानी जुड़ना और जुड़ना जिससे भी सच्चे मन से हो जाए, उससे ही योग लग जाता है। जब किसी को ...

25 जून, सोमवार को बुध का कर्क राशि में प्रवेश, किसे मिलेगा ...

25 जून, सोमवार को बुध का कर्क राशि में प्रवेश, किसे मिलेगा सुख, किसे होगा क्लेश
25 जून, सोमवार को बुध कर्क राशि में प्रवेश करेंगे। आइए जानते हैं कि बुध के कर्क राशि में ...

ज्योतिष के अनुसार राहु की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते ...

ज्योतिष के अनुसार राहु की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते होंगे...
ज्योतिष के अनुसार हर ग्रह की परिभाषा अलग है। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत है राहु के बारे ...

सूर्य आए मिथुन में, यह 3 राशियां हैं खतरे में.. सावधानी ...

सूर्य आए मिथुन में, यह 3 राशियां हैं खतरे में.. सावधानी बरतें
सूर्य ने वृष राशि से मिथुन में प्रवेश कर लिया है। सूर्य के राशि बदलते ही समस्त राशियों पर ...

राशिफल