INDvsENG : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए कुलदीप को मिला सचिन का समर्थन

Last Updated: सोमवार, 23 जुलाई 2018 (19:21 IST)
मुंबई। पूर्व बल्लेबाज ने के खिलाफ महत्वपूर्ण पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए चाइनामैन गेंदबाज को भारतीय टीम में शामिल करने का समर्थन किया है और माना है कि आगामी मैचों में इससे को फायदा मिलेगा।

इंग्लैंड के खिलाफ एक अगस्त से शुरू होने जा रही पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए कुलदीप को विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय टेस्ट टीम में शामिल किया गया है। उनके अलावा टीम में अन्य अनुभवी स्पिनरों लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा और ऑफ स्पिनर की भी जोड़ी है। लेकिन सबसे अधिक चर्चा कलाई के स्पिनर कुलदीप को लेकर है।

23 साल के कुलदीप ने हाल ही में इंग्लैंड में खेली गई तीन-तीन मैचों की ट्वंटी 20 और वनडे सीरीज में प्रभावशाली गेंदबाजी की थी और वनडे सीरीज के शुरुआती दो मैचों में ही नौ विकेट निकाले थे जिसमें ओपनिंग मैच में उन्होंने 25 रन पर छह विकेट लिए थे जो उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हैं।

सचिन ने साक्षात्कार में कहा मैंने हमेशा कहा है कि कुलदीप टेस्ट प्रारूप के लिए तैयार हैं जो क्रिकेटरों के लिए सबसे मुश्किल प्रारूप है। मुझे लगता है कि वह बिल्कुल तैयार है। इंग्लैंड के बल्लेबाजों को कुलदीप के खिलाफ खेलने में सबसे अधिक मुश्किल हुई थी।

हालांकि आखिरी वनडे में इंग्लैंड ने जीत दर्ज करते हुए सीरीज 2-1 से जीत ली थी, इस मैच में कुलदीप 55 रन देकर कोई विकेट नहीं ले सके थे। लेकिन बाकी मैचों में उनका प्रदर्शन बेहतरीन रहा था जिससे कप्तान विराट ने पहले ही उन्हें टेस्ट टीम में लाने के संकेत दे दिए थे।

टेस्ट और वनडे में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर सचिन ने कहा कि कुलदीप ने भले ही उपमहाद्वीप में ही अपने मात्र दो टेस्ट खेले हों लेकिन वह इंग्लैंड की जमीन पर भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा 'मैंने कुलदीप के प्रदर्शन को देखा है और उनमें प्रतिस्पर्धा की क्षमता है, इसमें मुझे किसी तरह का संदेह नहीं है।'

सचिन के अनुसार भारतीय टीम में अश्विन और जडेजा के रूप में दुनिया के दो शीर्ष टेस्ट गेंदबाज मौजूद हैं, जो शीर्ष पांच में शामिल है। सचिन ने कहा कि भारतीय टीम की सीरीज में जीत इंग्लैंड की पिचों पर काफी हद तक निर्भर रहेगी। उन्होंने कहा मैच में हमारा परिणाम उन पिचों पर भी निर्भर करेगा जिन पर हम खेलेंगे।

उन्होंने कहा 'इंग्लैंड में इस बार ग्रीष्मकाल का मौसम भारत जैसा है। ऐसे में स्पिनरों को यदि मदद मिलेगी तो मुझे यकीन है कि भारत को सीरीज में फायदा मिल सकता है और इंग्लैंड दबाव में आएंगा। यह एक बहुत अहम पहलू होगा।'
भारत रत्न सचिन ने के लिए चुनी हुई टीम को लेकर भी संतोष जताया। 45 वर्षीय क्रिकेटर ने कहा हमारे पास ऐसे गेंदबाज भी है जो बल्लेबाजी कर सकते हैं और बल्लेबाज ऐसे हैं जो गेंदबाजी भी कर सकते हैं। इसके अलावा कीपरों की भी अहमियत है।
पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, अश्विन और जडेजा दोनों निचले क्रम पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। हमारे पास तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर के तौर पर हार्दिक पांड्या भी टीम में शामिल है जो अच्छी बल्लेबाजी कर सकते हैं। हालांकि हार्दिक का करियर अभी शुरू हुआ है। लेकिन फिलहाल जो भी टीम चुनी गई है वह बहुत ही संतुलित है।

भारतीय टीम को हालांकि देखा जाए तो टीम में कई खिलाड़ियों को काफी चोटें आई हैं। नियमित टेस्ट विकेटकीपर बल्लेबाज़ रिद्धिमान साहा चोट से उबर नहीं पाए हैं, तेज़ गेंदबाज़ भुवनेश्वर कुमार ने भी तीसरे वनडे में अपनी पीठ की चोट को बढ़ा लिया है जिससे दोनों इंग्लैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज से बाहर है।

विराट की टीम में साथ ही मध्यम तेज गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह भी एजबस्टन में एक अगस्त से होने वाले मैच में नहीं उतरेंगे। तेज गेंदबाज को आयरलैंड के खिलाफ अंगूठे में चोट लग गई थी। हालांकि उन्हें टीम में शामिल किया गया है और दूसरे टेस्ट के बाद जाकर उनकी फिटनेस को लेकर कोई फैसला लिया जाएगा। सचिन ने हालांकि टीम में नियमित खिलाड़ियों की गैर मौजूदगी के बावजूद अच्छे परिणाम की उम्मीद जताई है।
उन्होंने कहा मेरे पास इसके लिए कई उदाहरण हैं जब ऐसा हुआ। हम टोरंटो में पाकिस्तान के खिलाफ जब खेलने गए थे तब जवागल श्रीनाथ, वेंकटेश प्रसाद और अनिल कुंबले टीम में नहीं थे जो टीम के तीन अहम गेंदबाज थे और तब भी हमने पाकिस्तान को 4-1 से हराया। उन्होंने कहा" चोटें खेल का हिस्सा होती हैं और हमें हमेशा इस स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए। ऐसा नहीं है कि जब हमारे पास नियमित खिलाड़ियों की पूरी टीम न हो तो हम अच्छा नहीं खेल सकेंगे।


और भी पढ़ें :