वीरे दी वेडिंग की रंगीन भाषा को मिला 'ए' सर्टिफिकेट


करीना कपूर खान, आहुजा, स्वरा भास्कर और शिखा तल्सानिया स्टारर फिल्म 'वीरे दी वेडिंग' का ट्रेलर आते ही लोगों को मज़ा आ गया। यह करीना की मां बनने के बाद पहली फिल्म है। साथ ही सोनम कपूर की भी यह शादी के बाद पहली रिलीज़ फिल्म होगी। ट्रेलर में चार सहेलियों की कहानी दिखाई गई है। भाषा मजेदार है तो अपशब्दों से भरी हुई भी है, इसलिए यह यंगस्टर्स को बहुत अट्रैक्ट कर रही है। फिल्म एक जून को रिलीज़ होने वाली है।

इसके निर्देशक शशांक घोष हैं। फिल्म की दो निर्माता हैं - और रिया कपूर। हाल ही में फिल्म 'वीरे दी वेडिंग' की सेंसर सर्टिफिकेशन स्क्रीनिंग रखी गई थी। लग रहा था कि इसकी भाषा को बदलने की बात कही जाएगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। रिया कपूर और एकता कपूर की इस फिल्म स्क्रीनिंग में फिल्म में प्रयोग की गई गालियां, अपशब्द, पर कोई आपत्ति नहीं ली गई।

दोनों प्रोड्युसर्स एकता कपूर और रिया कपूर के पापा जीतेन्द्र और इसमें शामिल थे। दोनों ने फिल्म का समर्थन किया। सूत्र के अनुसार इसमें जीतेन्द्र और अनिल कपूर दोनों ने में बोली जाने वाली रंगीन भाषा में अपना पक्ष रखा। वे इस बात को मानते है कि आज के युवा ऐसी ही अजीब भाषा बोलते हैं। हालांकि कुछ पैनल सदस्यों ने विरोध भी किया। आखिरकार, बोर्ड के सदस्य भाषा को बनाए रखने के लिए सहमत हुए और फिल्म को 'ए' सर्टिफिकेट दिया।

फिल्म के ट्रेलर में कई गालियां हैं और इसमें सेक्स को लेकर बातें हो रही हैं। ऐसे में इसे बनाए रखना मुश्किल लग रहा था। ज़्यादातर गालियां और सोनम कपूर ही देती हुई नज़र आ रही हैं। मज़ेदार बात यह है कि ट्रेलर की शुरुआत ही सोनम कपूर के डायलॉग से होती है जिसमें वे शादियों में होने वाली दिक्कतों के बारे में गुस्से से बात कर रही हैं। यह मज़ेदार इसलिए है क्योंकि सोनम कपूर ने हाल ही में आनंद आहुजा के साथ धूमधाम से शादी की है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
विज्ञापन

और भी पढ़ें :