अपने ऊपर आरोप लगने के बाद सुभाष घई बोले, निजी हित में #Metoo कैम्पेन का उपयोग दुखद

नई दिल्ली| Last Updated: सोमवार, 15 अक्टूबर 2018 (19:53 IST)
नई दिल्ली। जाने-माने फिल्म निर्माता एवं निदेशक ने रविवार को कहा कि वे 'मी टू कैम्पेन' और नारी सशक्तीकरण के बड़े समर्थक हैं लेकिन इसके माध्यम से निजी हितों को पूरा करने के लिए लोगों को निशाना बनाना चिंताजनक और दुखद है।

घई ने यह टिप्पणी अपने ऊपर लगाए गए आरोपों के बाद दी है। मॉडल-अभिनेत्री केट शर्मा ने इस अभियान के तहत उन पर के आरोप लगाए हैं। घई ने ट्वीट किया कि मैं इस अभियान का बड़ा समर्थक हूं लेकिन मुझे डर है कि लोग क्षणिक ख्याति के लिए इसका उपयोग करके इसके महत्व को खत्म कर देंगे। कुछ लोग मेरे सम्मान को ठोस पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं, जो बेहद दुखद है। मेरे वकील इन मामलों को देखेंगे।
केट शर्मा ने घई पर यौन शोषण का मामला दर्ज कराया है। अभिनेत्री ने उन पर आरोप लगाया है कि इस वर्ष 6 अगस्त को उन्होंने अपने घर बुलाकर उसे जबरन आलिंगनबद्ध करने की कोशिश की। इससे पहले घई पर एक और महिला ने आरोप लगाया था।

महिला ने अपने बयान में कहा था कि घई ने उसके पेय पदार्थ में नशीला पदार्थ मिलाकर उसका यौन उत्पीड़न किया था। इससे पहले नाना पाटेकर से लेकर साजिद खान तक बॉलीवुड के कई लोगों पर यौन उत्पीड़न का आरोप लग चुका है। पुलिस ने इस मामले में केट शर्मा की प्राथमिकी दर्ज कर ली है। (वार्ता)

विज्ञापन

और भी पढ़ें :