जैकलीन फर्नांडीज नहीं भूल सकतीं भारत में वो पहली रात

भारत के बाहर से बॉलीवुड में आई कुछ एक्ट्रेस या तो बहुत जल्दी अपना नाम कमा लेती हैं या उन्हें एकाध फिल्म के बाद कोई पूछता भी नहीं। हालांकि ऐसा बहुत ही कम हुआ है, जब कोई विदेशी एक्ट्रेस बॉलीवुड में नाम कमाने आई हों और उनके टैलेंट को पहचाना न गया हो। इसी लिस्ट में कैटरीना कैफ, जैसी हीरोइनें शामिल हैं।
ALSO READ:
: फिल्म समीक्षा
हालांकि टैलेंट तो ठीक है, लेकिन इन हीरोइंस के साथ सबसे बड़ी समस्या होती है भाषा की। वे हिन्दी ठीक से नहीं बोल पातीं और यही उन्हें कमजोर बनाती है। हालांकि 'रेस 3' की एक्ट्रेस जैकलीन ने अपनी इस कमजोरी पर बहुत जल्दी काम किया है और वे फिलहाल कैटरीना से भी बेहतर हिन्दी बोल लेती हैं। जैकलीन ने एक इंटरव्यू में हिन्दी को लेकर अपने संघर्ष की चर्चा की।
जैकलीन ने पिछले साल हुए इस इंटरव्यू में कबूल किया था कि कैसे यात्रा ने उन्हें निडर बना दिया। जब उन्होंने पहली बार भारत का दौरा किया था तो उन्हें हिन्दी बिलकुल नहीं आती थी और यहां के अनुभव ने उन्हें बदल दिया था। पत्रकारिता से मॉडलिंग में स्विच करने के बाद जैकलीन पहली बार अपने फैशन शो के लिए भारत आई थीं।
जैकलीन ने अपना एक्सपीरियंस शेयर करते हुए बताया कि पहली बार मैं भारत आई थी मुंबई में एक फैशन वीक को अटेंड करने। मैं शहर में किसी को भी नहीं जानती थी। मैं एयरपोर्ट पर रात के करीब 3 बजे उतरी। मुझे उस वक्त मिलियन ऑटो दिख रहे थे और मैं एक विदेशी लड़की थी, जो हिन्दी नहीं बोल सकती थी और मुझे कोलाबा के गेस्टहाउस जाना था, जो कि एयरपोर्ट से करीब 25 किमी दूर था।


जैकलीन ने आगे बताया कि मैं एक कैब में बैठी, यह सोचकर कि मैं सुरक्षित हूं। पहली बार के लिए यह मेरे लिए चुनौतीपूर्ण था। मुझे विश्वास नहीं होता कि मैंने इतनी हिम्मत दिखाई थी तब। भाषा को ठीक से न जानने के बावजूद मैंने ड्राइवर को उस जगह के बारे में जैसे-तैसे समझा दिया। जैकलीन की यही हिम्मत उन्होंने बॉलीवुड में भी दिखाई दी। कई फ्लॉप देने के बाद भी उनमें आज इतना कॉन्फिडेंस है कि वे सुपरस्टार के साथ 'रेस 3' जैसी बड़ी फ्रेंचाइज में काम कर रही हैं।


और भी पढ़ें :